कोलकाता : बीते कई दिनों से तृणमूल कांग्रेस से नाराज चल रहे विधायक शुभेंदु अधिकारी ने आज पार्टी के विधायक पद से त्याग पत्र दे दिया है. इससे पहले उन्होंने बंगाल के परिवहन मंत्री का पद त्यागा था. अप्रैल-मई 2021 में बंगाल में विधानसभा का चुनाव होना है और इससे पहले यह सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के लिए जोरदार झटका माना जा रहा है. ख़बरें है कि शुभेंदु अधिकारी शनिवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं. उनके परिवहन मंत्री के पद से इस्तीफ़ा देने के बाद इस तरह की चर्चाएं लगातार जारी है.

हाल ही में दी Z प्लस सुरक्षा….

हाल ही में शुभेंदु अधिकारी की सुरक्षा में भी इजाफा कर दिया गया है. उन्हें जेड प्लस सुरक्षा मुहैया कराई गई है. बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से उन्हें यह सुरक्षा मिली है. बीते दिनों पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के काफिले पर हमला हुआ था. इसके बाद कैलाश विजयवर्गीय को जेड प्लस सुरक्षा दी गई थी. केंद्र ने इसी बीच अधिकारी पर भी हमले की आशंका जताते हुए उन्हें Z प्लस सुरक्षा दी है.

शुभेंदु अधिकारी को यह सुरक्षा मिलने के बाद एक रैली में उन्होंने कहा था कि, हाल के दिनों में उनके ऊपर 11 बार हमले किए गए हैं. मंगलवार को अधिकारी ने कहा था कि, मैं पहले भारतीय हूँ. इसके बाद बंगाली हूँ. बता दें कि उन्होंने मंत्री पद छोड़ने के बाद भी कहा था कि वे भारत और बंगाल उनकी माँ है. वे इनके पुत्र हैं. उन्होंने कहा था कि मैं हमेशा जनसेवा करूंगा.

अधिकारी के इस्तीफे के बाद भारतीय जनता पार्टी ने उनके इस्तीफे का स्वागत किया है. भाजपा उपाध्यक्ष मुकुल राय ने कहा है कि जिस दिन उन्होंने मंत्री पद त्यागा था, उस समय मैंने यह कहा था कि, यदि वे तृणमूल कांग्रेस छोड़ देते हैं तो मुझे खुशी होगी और हम उनका स्वागत करेंगे. आज मैं उनका स्वागत करता हूं, जब उन्होंने विधायक पद त्यागा दिया है.