दिल्ली के जंतर मंतर मैदान में दूसरे दिन भी कुश्ती पहलवानों का धरना प्रदर्शन जारी रहा। भारतीय पहलवान विनेश फोगाट (Vinesh Phogat), बजरंग पूनिया समेत करीब 30 पहलवान भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण सिंह को पद से हटाने की मांग कर रहे है। दरअसल, खिलाडियों का कहना है संघ के अध्यक्ष और कई कोच के खिलाफ यौन शोषण तथा अभद्रता करने के आरोप लगाए है।

जिसके बाद गुरुवार को खेल मंत्रालय ने पहलवानों के एक प्रतिनिधिमंडल को बातचीत के लिए बुलाया। शास्त्री भवन में 4 पहलवानों ने खेल सचिव और SAI के डीजी के साथ बातचीत की। जहाँ पहलवानों ने अपनी समस्याएं बताईं और कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की शिकायत की। खिलाडियों ने बताया कि उनके साथ बदसलूकी की जाती तथा ठीक से बर्ताव नहीं किया जाता। जिस कारण खिलाडी WFI के अध्यक्ष को हटाने की लगतार मांगे कर रहे है।

आपको बता दें धरना दर्शन में शामिल पहलवानों के आंखों में आंसू है, तो चेहरे पर नाराजगी। इन रेसलर्स के पास महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न, अभद्रता, क्षेत्रवाद जैसे गंभीर आरोपों की लंबी लिस्ट है। इन पहलवानों ने कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला है। वहीं खिलाडियों के बैकफुट पर ना जाते देख कुश्ती महासंघ ने आपातकालीन बैठक बुलाई।

Also Read : MP: आमने-सामने की टक्कर के बाद पलटी दो बसें, स्कूली छात्रों समेत 40 से ज्यादा लोग घायल

इन खिलाडियों ने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से फ़ोन पर बातचीत कर अपना पक्ष रखा। बताया जा रहा है कि खिलाड़ियों ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ इस्तीफे की मांग रखी। वहीं दूसरी तरफ कुश्ती संघ के अध्यक्ष का कहना है कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही तथा लगाए गए आरोप गलत है। पहलवानों का कहना है कि हमें उम्मीद है फैसला सबके पक्ष में आएगा। खिलाड़ियों का कहना था कि उनकी मांगों को पूरी ध्यान से सुना गया है। बैठक के साथ बाहर आने पर वे खुश देख गए।