Breaking News

इंदौर में शबाना आजमी बोलीं- सरकार की आलोचना करते हैं, तो बताते हैं देशद्रोही

Posted on: 07 Jul 2019 09:00 by Pawan Yadav
इंदौर में शबाना आजमी बोलीं- सरकार की आलोचना करते हैं, तो बताते हैं देशद्रोही

इंदौर। गीतकार और गजलकार जावेद अख्तर की पत्नी और फिल्म अभिनेत्री शबाना आजमी ने केंद्र की मोदी सरकार पर एक बार फिर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि आजकल ऐसा माहौल है कि सरकार की आलोचना करते हैं, तो देशद्रोही घोषित कर दिया जाता है, लेकिन इससे डरने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि किसी को उनका प्रमाण-पत्र नहीं चाहिए।

दरअसल, इंदौर में आयोजित एक कार्यक्रम में फिल्म अभिनेत्री शबना आजमी हिस्सा लेने आई थी। कार्यक्रम के दौरान शबाना आजमी ने कहा कि हम गंगा-जमुनी तहजीब में रहते हैं।

हम इन हालात के आगे घुटने नहीं टेक सकते। भारत एक खूबसूरत देश है। देशवासियों को तोड़ने की कोई भी कोशिश देश के लिए अच्छा नहीं होगा।

उन्होंने ने कहा कि देश की कमजोरी बताने में कोई बुराई नहीं है, बल्कि इससे देश मजबूत होगा।

दिग्विजय सिंह बोले- आडम्बर की आग से देश को बचाना जरुरी

इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने देश में बाद रहे फेक न्यूज और महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताए जाने पर चिंता जाहिर की है। पूर्व सीएम ने कहा कि आज सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाहें चलते हैं। फेक न्यूज आज आतंकवाद से भी बड़ा खतरा बन चुका है। मैंने अनेक स्टडीज को देखा है समझा है कि फेक न्यूज से जितनी घृणा और नफरत चलाया जा सकता और किसी के माध्यम से नहीं चलाया जा सकता है और ये दुर्भाग्य है हम हमारी सरकार इस फेक न्यूज पर नियंत्रण नहीं कर पा रहे हैं। कई देशों ने इस पर चर्चा करने का प्रयास किया है कानून बनाया है, लेकिन अब भी बहुत कुछ होना बाकी है।

घर में बोला जाता है, कम बोलो

दिग्विजय सिंह ने कहा कि टेक्नोलॉजी का युग भी है और टेक्नोलॉजी से चुनाव भी हो रहे है और नतीजे भी आ रहे हैं। जैसा कि मैंने कहा हम लोग तो लड़ना जानते हैं, अपनी बात कहना जानते हैं कई बार मुझे घर में टोका जाता है कि इतनी बात मत करो। जब चारों तरफ का माहौल देखते हैं झूठ का अम्बार देखते हैं झूठ को सच होते देखते हैं, तो चुप नहीं रह सकते हैं। हमें बोलना पडेगा हम बोलेंगे हम ट्रोल होंगे गालियां पड़ेगी हमारे बारे में न जाने कितनी बातें कही जाएगी, लेकिन डर के इस देश को नहीं बचाया जा सकता है हमें लड़ना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि बहुत सारे लोग आज इस बात से आश्चर्यचकित है कि राहुल गांधी ने अपना पद क्यों छोड़ दिया, लेकिन आपने उनके चार पैन का स्टेटमेंट में देखा हो उसमें साफ लिखा है कि आज सत्ता की चिंता मत करो आज देश की चिंता करो आज देश जो आडम्बर की आग जल रहा है, उसे बचाना जरुरी है और शुरुआत हमें अपने मोहल्ले से, अपने शहर से अपने गांव से करनी पड़ेगी हो सकता है गालियां पड़ेगी पत्थर भी पड़ेंगे, गोलियां भी पड़ेगी।

भाजपा पर साधा निशाना

इस दौरान दिग्विजय सिंह ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताये जाने पर भाजपा पर पर निशाना साधा और कहा कि महात्मा गांधी को मारने वालों को आज देशभक्त कहा जा रहा है। हम कभी नहीं सोच सकते थे कि महात्मा गांधी की हटाया करने वालों की आज मूर्तियां लगाई जा रही है, उस व्यक्ति को देशभक्त कहा जा रहा है क्या यही भारत है। क्या हम लोगों ने उस महात्मा के प्रति यही अपनी वफादारी अपनी कृतज्ञता दिखाई है, जिसने कोई भी पद ना लेते हुए अपने प्राण दिए। क्या प्रति अपनी आवाज नहीं उठा सकते और जो लोग नाथूराम गोडसे से प्रेरणा लेते हैं। नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहते है हम उनके खिलाफ खड़े नहीं हो सकते हमें लगना होगा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com