मध्यप्रदेश के इंदौर में आज से प्रवासी भारतीय सम्मेलन शुरू हो चूका है। वर्ष 2019 के बाद कोरोना महामारी के चलते पहली बार सम्मेलन भौतिक रूप से हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार, 9 जनवरी को 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे, जबकि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू मंगलवार, 10 जनवरी को इसका समापन करेंगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आपका हृदय से स्वागत है,आपने भारत का डंका दुनिया मे बजाया है इसलिए भी आपका स्वागत है,प्रधानमंत्री जी ने झाड़ू हाथ मे ली और स्वच्छ्ता का बीड़ा उठाया इंदौर ने स्वच्छ्ता में सिक्सर मारा और मध्यप्रदेश भी एक नंबर पर है मोदी जी ने डिजितलाईजेशन पर कार्य शुरू किया आज देखिए क्रांति आयी है जब भी कोई इनोवेटिव आइडिया आए तो मामा को याद कर लेना। हम आपका साथ देने में कसर नहीं छोड़ेंगे। आज गूगल, एप्पल और बड़े ब्रांड में भारतीय ही भारतीय नजर आएंगेइसके बाद सीएम ने कहा, है नहीं है हाथ केवल हाथ मलने के लिए, तू इन्हें मुठी बना दुनिया बदलने के लिए।

सराफा ओर 56 इंदौर की शान

अनुराग जी ने कहा कि सराफा जरूर जाए में कहूंगा इंदौर के सराफा और 56 दुकान भी जरूर जाना, अद्भुत है इंदौर यहाँ महाकाल, यह ओम कारेश्वर है

महाराष्ट्रीयन ढोल से किया प्रवासियों का सम्मान

प्रवासी भारतीय सम्मेलन का पहला दिन काफी जोशीला रहा। प्रवासियों के स्वागत के लिए श्री हनुमंत ध्वज पथ इंदौर ने महाराष्ट्रीयन ढोल बजाकर सम्मान किया। लगभग 150 लोगों का यह ग्रुप 3 दिन शहर के अलग अलग स्थानो पर अपनी प्रस्तुति देंगे।

सम्मेलन में पहुंचा मोरिशिस का ग्रुप

रविवार सुबह से ही प्रवासी भारतीय सम्मेलन में प्रवासियों को आना जाना लगा है, कई देशों से प्रवासी सम्मेलन में भाग लेने पहुंच रहे है। समिट में मॉरीशस मराठी मंडली फेडरेशन मॉरीशस का एक ग्रुप हिस्सा लेने पहुंचा है। ग्रुप के असन्त गोविंद ने बताया कि 15 लोगो का यह ग्रुप सम्मेलन में कल्चर के आदान प्रदान और भारत और मोरीशश की मैत्री को बढ़ावा देगा। हम पहले भी बनारस में आयोजित प्रवासी सम्मेलन में आए थे।
हमारे पूर्वज भारत के कोने कोने से थे और आज भी यह बात हमें भारत के कल्चर से जोड़े रखती है। ग्रुप में शामिल सदस्य मोरीशिस में एजुकेटर, अकाउंटेंट, बैंकर, ऑडिटर और अन्य पदों पर कार्यरत है