टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान को अपने ही घर में इंग्लैंड से करारी हार का सामना करना पड़ा। साथ ही वह आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप से भी बाहर हो गई है। इंग्लैंड ने तीन टेस्ट की सीरीज में पाकिस्तान के खिलाफ 2-0 से अजेय बढ़त बनाई है। अब दोनों टीमों के बीच तीसरा टेस्ट मैच शनिवार (17 दिसंबर) से कराची में खेला जाएगा।

टेस्ट सीरीज हारने के बाद से ही पाकिस्तान क्रिकेट में हड़कंप मचा हुआ है। कप्तान बाबर आजम और बाकी खिलाड़ियों के साथ सेलेक्टर्स और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) की भी जमकर आलोचना हो रही है। मगर इसी बीच एक स्टार खिलाड़ी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है।

करियर का आखिरी टेस्ट

यह पाकिस्तानी खिलाड़ी 37 साल के अजहर अली है। इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज का तीसरा मैच अजहर के करियर का आखिरी टेस्ट होने वाला है। अजहर ने अब तक 96 टेस्ट में 42.49 की औसत से 7097 रन बनाए हैं। उनके नाम 19 शतक और 35 अर्धशतक हैं, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर वेस्टइंडीज के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट मैच में नाबाद 302 रन था।

8 विकेट किए अपने नाम

अजहर अली ने गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया है। उन्होंने अब तक टेस्ट क्रिकेट में आठ विकेट भी अपने नाम किए हैं। पाकिस्तान के लिए अजहर अली ने अब तक 53 वनडे मैच खेले, जिसमें उन्होंने 1895 रन बनाए हैं। अजहर अली अब तक टी20 इंटरनेशनल में डेब्यू नहीं कर सके। उन्होंने ओवरऑल टी20 फॉर्मेट में 49 मैच खेले, जिसमें 985 रन बनाए।

Also Read : शिवराज कैबिनेट में फेरबदल की संभावना, कौन होगा नया चेहरा और किसकी हो सकती छुट्टी

‘टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने का सही समय’

अजहर ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘शीर्ष स्तर पर अपने देश का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए सम्मानजनक रहा है। संन्यास का फैसला करना हमेशा ही कठिन होता है, लेकिन गहराई से विचार करने के बाद मैंने महसूस किया कि यह मेरे लिए टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने का सही समय है।

अजहर ने पाकिस्तान टीम की कप्तानी भी संभाली

अजहर अली ने बतौर कप्तान 9 टेस्ट मैचों और 31 वनडे मैचों में पाकिस्तान टीम की कमान संभाली है। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 519 और वनडे में 1153 रन बनाए। अजहर ने बतौर कप्तान टेस्ट में 2 और वनडे में तीन शतक भी जमाए। अजहर अली के बाद बाबर आजम ही पाकिस्तान टीम के कप्तान बने और अब तक उनका सफर जारी है।