MPPKVVCL : बिजली सम्बंधित सभी सूचनाएं तुरंत मिलेगी फोन पर, करना होगा ये

इंदौर। मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (MP PASCHIM KSHETRA VIDYUT VITARAN CO. LTD.MPPKVVCL)ने सभी बिजली उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर दर्ज कराने के लिए अभियान चलाया है। कोई भी उपभोक्ता जिसका मोबाइल नंबर उसके बिजली कनेक्शन के साथ दर्ज नहीं है, वह उर्जस पोर्टल(Urjas Portal) पर स्वयं या बिजली जोन, वितरण केंद्र पर मौजूदा बिल के पीछे लिखकर या सादे कागज पर आवेदन देकर अपना मोबाइल नंबर दर्ज करा सकता है।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर(Amit Tomar) ने बताया कि मालवा-निमाड़ में सभी श्रेणी के 55 लाख उपभोक्ता है। इनमें से सभी उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर बिजली खाते यानी आईवीआरएस नंबर के साथ दर्ज कराए जा रहे हैं, ताकि सभी सूचनाएं मोबाइल पर दी जा सके। इन सूचना में बिल की रीडिंग, बिल जारी होने, बिल भुगतान तिथि करीब आने के साथ ही मेंटेनेंस के लिए बिजली बंद रखी जाने या अन्य कोई जरूरी सूचना या योजना की जानकारी होती है। श्री तोमर ने बताया कि वर्तमान में 40 लाख उपभोक्ताओं को मोबाइल नंबर कंपनी के पास दर्ज हो चुके हैं। इनमें से इंदौर जिले के दस लाख में से आठ लाख उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर प्राप्त किए जा चुके हैं, शेष के लिए सभी 60 बिजली जोन, वितरण केंद्रों के माध्यम से अपील की गई है।

must read: अमूल के बाद अब सांची दूध की दरों में हुई बढ़ोतरी, पांच रुपये प्रति लीटर महंगा

प्रबंध निदेशक ने बताया कि अन्य जिलों के पौने चार सौ केंद्रों के माध्यम से मोबाइल नंबर दर्ज कराने का अभियान संचालित किया जा रहा है। बिलों पर सील लगाकर, एनाउंसमेंट और अन्य माध्यम से भी उपभोक्ताओं को नंबर दर्ज कराने लिए सूचित किया गया है।

उर्जस पर इस तरह करें नंबर दर्ज

उर्जस पोर्टल के होम पेज पर राइट साइड में कंज्यूमर सर्विस (ऊर्जा) विकल्प को क्लिक करना होगा। इसके बाद नीले रंग के 8 सेवाओं, आवेदनों में से तीसरा नंबर रजिस्टर मोबाइल नंबर विथ आईवीआरएस का विकल्प है। इस विकल्प पर जाकर आईवीआरएस नंबर के साथ मोबाइल नंबर दर्ज कराना होगा। यह नंबर बिजली कंपनी के सेंट्रल सर्वर में दर्ज हो जाएगा। इसके बाद सारी सूचनाएं मोबाइल पर मिलने लगेगी।