MP Weather : मध्यप्रदेश के इन जिलों में हो सकती है अधिक वर्षा, जारी हुआ रेड अलर्ट

लेकिन मध्यप्रदेश एक बार फिर मौसम तेरव बदल रहा हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश की आंशका जताते हुए रविवार को रेड अलर्ट जारी कर दिया हैं।

देश में लगातार मौसम अपना मिज़ाज बदल रहा हैं। लेकिन मध्यप्रदेश एक बार फिर मौसम तेरव बदल रहा हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश की आंशका जताते हुए रविवार को रेड अलर्ट जारी कर दिया हैं। बताया जा रहा है कि प्रदेश के कई इलाको में गरज और चमक के साथ वर्षा हो सकती हैं।

इन जिलों में अधिक संभावना बनी है बरसात की

मौसम विभाग के मुताबिक, आज रीवा, सतना, शहडोल और बालाघाट में आंशका जताई है तो वहीं, जबलपुर, सागर, भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर, चंबल, इंदौर और उज्जैन संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ वर्षा की बूंदा-बूदी की संभावना बनी हैं। वही प्रदेश के रीवा में अबतक बरसात कम हुई हैं, जिसकी वजह से यहां फाययदेमन मानी जा रही हैं।

मप्र में बीते कल से ही मौसम अपना मिजाज़ बदल रहा हैं। इसके कारण प्रदेश के कई हिस्सों में तेज तो कई इलाको में रात को हल्की वर्षा हुई है। इसी घटना को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में रविवार को अच्छी बरसात होने की आंशका जताई जा रही हैं।

Also Read : 14 साल के मोहम्मद फैज ने अपने नाम की Superstar Singer 2 की ट्रॉफी, जीते 15 लाख रुपये

प्रदेश के इन इलाकों में कम हुई वर्षा

प्रदेश के उत्तर प्रदेश के लगे बुंदेलखंड और नॉर्थ इस्ट के बघेलखंड के कुछ भागों में मानसून ने अपने आसार कम दिखाए हैं। जिन 11 जिलों सबसे कम बारिश हुई है, उनमें झाबुआ, अलीराजपुर, दतिया, टीकमगढ़, निवाड़ी, सतना, रीवा, सीधी, सिंगरौली, कटनी और डिंडौरी शामिल हैं। इन जिलों को अब भी अच्छी बारिश का इंतजार है। इन सभी जिलों में कोटे के 21 प्रतिशत से लेकर 45 प्रतिशत तक कम पानी गिरा है, जबकि इनमें भी झाबुआ, अलीराजपुर दतिया, रीवा और सीधी पांच जिले ऐसे हैं जहां सबसे कम बारिश हुई है।

बरसात से ये 18 जिलें हुए तहस-नहस

मध्यप्रदेश में बीते कई दिनों से लगातार बारी वर्षा होने की वजह से कई हिस्सो में बरबादी के मंजर भी देखने को मिला हैं। जिसमें प्रदेश के 18 जिलें चपेट में आ गए थे। जिसमें राजधानी भोपाल सहीत श्योपुर, गुना, विदिशा, राजगढ़, आगर मालवा, शाजापुर, सीहोर, देवास, हरदा, खंडवा, बड़वानी, खरगोन, बुरहानपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी और नर्मदापुरम शामिल हैं। इनमें कई जिलों में बाढ़ की स्थिति भी बन गई। यहां सामान्य से 20 प्रतिशत से लेकर 77 प्रतिशत तक ज्यादा बारिश हुई है।