Indore: जल्द तैयार होगा International Swimming Pool, मंत्री सिलावट ने किया निरीक्षण

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में जल्द ही इंटरनेशनल स्विमिंग पूल (International Swimming Pool) बनने जा रहा है। इसी कड़ी में आज रिंग रोड स्थित निर्माणाधीन अंतर्राष्ट्रीय स्विमिंग पूल (International Swimming Pool) का संयुक्त निरीक्षण इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा एवं मंत्री मध्यप्रदेश शासन तुलसीराम सिलावट ने किया। साथ ही इस अवसर पर इंदौर विकास प्राधिकरण के भूतपूर्व अध्यक्ष मधु वर्मा पूर्व सभापति अजय नरूका सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान अध्यक्ष चावला ने कार्य की गति को बढ़ाने के निर्देश दिए।

ALSO READ: मैक्लेओड्स फार्मास्युटिकल्स लि.का सेबी के यहां DRHP दाखिल

उन्होंने आश्वस्त किया कि यह प्रोजेक्ट समय सीमा में पूर्ण होगा, इस के द्वितीय चरण के कार्य हेतु हाल ही में संचालक मंडल द्वारा हाल ही में निविदा स्वीकृत कर दी गई है और शीघ्र ही यह कार्य भी शुरू हो जाएगा। इससे पहले निर्माणाधीन कार्य को मार्च तक पूर्ण करने का लक्ष्य दिया है। साथ ही मंत्री ने भी कार्य की रूपरेखा को समझा और संतोष व्यक्त किया।

बता दें कि, इंदौर में एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्विमिंग पूल का निर्माण किया जा रहा है। वही म.प्र. शासन की घोषणा (ए-0007 दिनांक 25-05-2010) अनुसार इंदौर विकास प्राधिकरण की योजना स्टेडियम की भूमि पर अर्तराष्ट्रीय स्तर के रिचमिंग पूल का निर्माण किया जा रहा है। यह निर्माण दो चरणों में किया जा रहा है। स्विमिंग पूल का नक्शा भी स्वीकृत किया गया है नगर निगम इंदौर की सहमति अनुसार रू 5.00 करोड़ निगम कोष से उपलब्ध कराने बाबद पत्र प्रेषित किया गया है।

ALSO READ: Lakhimpur Kheri Case का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा 129 दिन बाद रिहा

स्वीकृत स्विमिंग पूल में 10 लेन का मेन पूल (रेसिंग पूल), डायविंग पूल, व स्लैश पूल का प्रावधानित है। साथ ही भूतल पर ऑफिस, टॉयलेट ब्लॉक, चेंजिग रूम. शायर रूम सोना बाथ, स्टीम बाथ की सुविधाएँ व प्रथम तल पर लगभग 1200 दर्शको की क्षमता की दीर्घा निर्मित की गई है। मैजेनाईन फ्लोर पर जिम, कैफेटेरिया हेतु निर्माण किया गया है। फोर व्हीलर हेतु भूतल पर पार्किंग एवं टू-कीलर हेतु बेसमेंट में याकिंग का प्रावधान है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा स्विमिंग अकादमी होशंगाबाद से इंदौर स्थानांतरित किया जाना प्रस्तावित किया गया था।

साथ ही प्राधिकरण पहले चरण का कार्य पूर्ण होने के उपरांत में जस्तांतरित किए जाने की स्थिति में पहले चरण में व्यय हुई। भूखंड की लागत का भुगतान प्राधिकारी को एवं दूसरे चरण का कार्य खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा स्वयं के व्यय से पृथक से किया जाना प्रस्तावित किया गया था। बता दें कि, पहले चरण के कार्यो की लागत लगभग 13.97 करोड़ है जो मार्च तक पूरी हो जाएगी। साथ ही दूसरे चरण के कार्यों की लागत लगभग 983 करोड़ अनुमानित की गई है।

ALSO READ: मधुमेह का घर बैठे होगी जांच, बाद में वीडियो कांफ्रेंसिंग से इलाज

यह जानकार आपको ख़ुशी होगी कि. प्रथम चरण का कार्य प्रगति पर है 80% पूर्ण हो चुका है और द्वितीय चरण के कार्यों की निविदा आमंत्रित कर अनुबंध किए जाने की प्रक्रिया में है। बता दें कि, द्वितीय चरण के कार्यों के अंतर्गत फिल्ट्रेशन प्लांट, इक्वीपमें, रेसिंग पूल, डायविंग पूल के विभिन्न उपकरण डायविंग बोर्ड का निर्माण, लिफ्ट, बाहय विद्युतीकरण प्लम्बिंग एवं इलेक्ट्रिकल, शावर एवं टॉयलेट क्यूबिकल्स का कार्य किया जाएगा।