इंदौर स्वच्छ व सुंदर शहर बन सकता है तो हमारा शहर क्यों नही- महापौर यमुना नगर

दिनांक 18 जनवरी 2022। आयुक्त प्रतिभा पाल ने बताया की इंदौर देश में स्वच्छता में लगातार पांच बार देश का सबसे स्वच्छ शहर रहा है, साथ ही सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिये इंदौर नगर निगम द्वारा किये गये कार्यो को देखने देश के विभिन्न राज्यो, शहरो के जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियो लगातार इंदौर का भ्रमण कर रहे है। इसी क्रम में आज यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के महापौर मदनलाल चौहान व निगमायुक्त अजयसिंह तोमर सहित कुल 14 सदस्सीय दल ने नेहरू पार्क स्थित स्वच्छ भारत मिशन कार्यालय पर आयुक्त प्रतिभा पाल से सौजन्य भेंट की गई। आयुक्त पाल द्वारा महापौर मदनलाल चौहान, डिप्टी मेयर प्रवीण शर्मा, रानी कालरा व निगमायुक्त अजयसिंह तोमर का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर आयुक्त पाल द्वारा प्रेजेटेशन के माध्यम से इंदौर की स्वच्छता व सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की विस्तार से जानकारी दी गई।

ALSO READ: Indore: 10 हजार कोरोना मरीज भी रोजाना आए तो भी नहीं लगेंगी पाबंदिया: कलेक्टर सिंह

यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के 14 सदस्सीय दल में महापौर मदनलाल चौहान, डिप्टी मेयर प्रवीण शर्मा, रानी कालरा, एमसी अभिषक मुदगिल, संकेत प्रकाश, सविता कम्बोज, प्रशासनिक अधिकारियो के दल में म्युनिसिपल कॉपोरेशन आयुक्त अजयसिंह तोमर, डीएमसी अशोक कुमार, विनोद नेहरा, एओ विशाल कौसिक, एई वरूण शर्मा, सुरेन्द्र चौपडा, हरजीत सिंह, अनिल जैन शामिल है।

यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के महापौर, निगमायुक्त व दल द्वारा दिनांक 19 जनवरी 2022 को प्रातःकाल झोन 7 में डोर टू डोर कचरा संग्रहण व्यवस्था, कबीटखेडी स्थित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, स्टार चौराहा गारबेज कचरा ट्रांसर्फर स्टेशन, पालिका प्लाजा स्थित कमांड सेन्टर, सेफी नगर जीरो वेस्ट वार्ड 73, देवगुराडिया स्थित टेªचिंग ग्राउण्ड, बायो सीएनजी प्लांट, ड्रायवेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, सी एंड डी वेस्ट प्लांट का अवलोकन स्वच्छ भारत मिशन के अधीक्षण यंत्री अनूप गोयल द्वारा कराया जावेगा।

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा प्रेजेटेशन के माध्यम से इंदौर के स्वच्छता अभियान के विस्तृत जानकारी देते हुए, बताया कि किस प्रकार से पूर्व में इंदौर में जगह-जगह कचरा पेटिया हुआ करती थी, जिस कचरा पेटी के आस-पास कचरे के ढेर लगा हुए होते थे, इसके पश्चात इंदौर ने स्वच्छता अभियान के तहत इंदौर को कचरा पेटी से मुक्त करते हुए, डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन चलाये, जिनका जीपीएस सिस्टम के माध्यम से मॉनिटरिंग किया जा रहा है, सभी कचरा संग्रहण वाहनो अपने निर्धारित रूट व समय पर अपने कार्य क्षेत्र में कार्य कर रहे है।

शहर को ओडीएफ मुक्त कैसे किया, पहले गीला-सुखा कचरा संग्रहित किया जाता है, अब हर दिन 6 बिन की तर्ज पर 6 प्रकार का कचरा संग्रहित किया जा रहा है। थैला बैंक, बर्तन बैंक, डिस्पोजल फ्री क्षेत्र, जीरो वेस्ट इवेंट, जीरो वेस्ट शादी, नाला सफाई अभियान, नाला क्रिकेट, नाला मेडिकल चेकअप, नाला फुटबॉल, नाला दंगल व अन्य गतिविधियेां के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहनो से संग्रहित कचरे को गारबेज कचरा ट्रांसर्फर स्टेशन तक किस प्रकार से पहुंचाया जा रहा है, इस सेग्रिगेट कचरे को किस प्रकार से टेªचिंग ग्राउण्ड पर डिसेंटलाईज्ड मटेरियल रिकवरी प्लांट व ड्राय वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, कम्पोस्ट प्लांट में प्रोसेस किया जा रहा है। इसके साथ ही टेचिंग ग्राउण्ड में निर्माणधीन बायागैस प्लांट के संबंध में भी विस्तार से जानकारी देते हुए, बताया कि यह एशिया को बडा बायोगैस सीएनजी प्लांट है जहां पर गीले कचरे से बायोगैस का निर्माण किया जाकर उसे लोक परिवहन में उपयोग किया जा रहा है।

यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के महापौर श्री मदनलाल चौहान ने कहा कि एअरपोर्ट से लेकर होटल तक तथा होटल से लेकर नेहरू पार्क तक मुझे कही भी कचरा के कुडादान नही दिखे, यहां कि 100 प्रतिशत सडके पक्की है, हर तरफ स्वच्छता का वातावरण हमने इंदौर में अभी तक देखा है, इंदौर की स्वच्छता व सुंदरता को देखकर यह जिज्ञासा जागी कि इंदौर स्वच्छ व सुंदर शहर बन सकता है तो हमारा यमुना नगर क्यों नही? और यही देखने व सीखने हम इंदौर आए है। इंदौरवासियों और निगमायुक्त को मेरी शुभकामना और मुझे विश्वास है कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में इंदौर स्वच्छता का सिक्सर लगाएगा।