ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय मूल के ऋषि सुनक का मुकाबला है महिला नेत्री पेनी मोर्डेंट से

भारतीय मूल के ऋषि सुनक के पास जहाँ 40 सांसदों का समर्थन है वहीं पेनी मोर्डेंट के साथ भी तकरीबन 20 सांसदों का समर्थन है। पोर्ट्समाउथ से हैं सांसद पेनी मोर्डेंट, 2019 में पहली बनी थीं महिला डिफेंस सचिव। ऋषि सुनक इंफोसिस के सह संस्थापक और दिग्गज भारतीय कारोबारी नारायण मूर्ति के दामाद हैं।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) के इस्तीफे की खबर के बाद से भारतीय मूल के ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। लेकिन ये दावा इतना भी आसान नहीं है। माना जा रहा है कि और भी कुछ दावेदार हैं जिनका दावा भी ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के लिए मजबूत माना जा रहा है। इन नामों में सबसे प्रमुख नाम है महिला नेत्री व व्यापार मंत्री पेनी मोर्डेंट का। पेनी मोर्डेंट ऋषि सुनक के बाद दूसरा सबसे प्रबल उम्मीदवार नाम है। भारतीय मूल के ऋषि सुनक के पास जहाँ 40 सांसदों का समर्थन है वहीं पेनी मोर्डेंट के साथ भी तकरीबन 20 सांसदों का समर्थन है, जोकि ऋषि सुनक के बाद सबसे ज्यादा है । भले ही सांसदों का समर्थन ऋषि सुनक के साथ हो मगर ब्रिटेन की राजनीती के जानकार पेनी मोर्डेंट का दावा भी कम मजबूत नहीं मान रहे हैं।

Also Read-झारखंड : बाबा बैजनाथ के दरबार में पहुँचेंगे पीएम मोदी, विभिन्न परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास और शुभारंभ

पोर्ट्समाउथ से हैं सांसद पेनी मोर्डेंट, 2019 में पहली बनी थीं महिला डिफेंस सचिव

पेनी मोर्डेंट ब्रिटेन के पोर्ट्समाउथ से सांसद हैं। 2005 में पहला चुनाव लड़ा मगर हार गईं। 2010 में फिर चुनाव लड़ा और 7000 वोटों से जीत हासिल की। सांसद के पद पर आसीन होने से पहले कंजर्वेटिव पार्टी के सक्रिय सदस्य के रूप में भी काफी समय तक उन्होंने कार्य किया। वर्तमान समय में पेनी मोर्डेंट ब्रिटेन की अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री के रूप में पदस्थ हैं।

Also Read-द ग्रेट खली ने मारा टोल कर्मचारी को थप्पड़, लगाया ब्लेकमैल करने का आरोप

कौन हैं ऋषि सुनक जो बन सकते हैं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री के नाम की अटकलें बोरिस जॉनसन के इस्तीफे के बाद से ही लगना शुरू हो गई हैं। सूत्रों के अनुसार भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री की दौड़ में सबसे आगे बताए जा रहे हैं। ऋषि सुनक बोरिस जॉनसन सरकार में वित्त मंत्री के पद पर आसीन थे, जिससे की 5 जुलाई को उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। सुनक कई प्रेस सभाओं में सरकार के प्रतिनिधि चेहरे के रूप में लोकप्रिय हैं। साथ ही कोरोना प्रकोप के दौरान उनके द्वारा आर्थिक मन्दी से ब्रिटेन को उबारने के लिए किए गए हरसम्भव प्रयास से भी उनकी छवि एक मजबूत और ईमानदार नेता के रूप में है।गौरतलब बात है कि ऋषि सुनक इंफोसिस के सह संस्थापक और दिग्गज भारतीय कारोबारी नारायण मूर्ति के दामाद हैं।