कम उम्र में हार्ट अटैक के केस अब हैरान नहीं करते हैं, बल्कि इस तरह के केसे अब डराते हैं। क्योंकि कुछ समय पहले तक 40 साल से कम उम्र में हार्ट अटैक आना काफी आश्चर्य की बात होती थी लेकिन अब ज्यादातर मामलों में हार्ट अटैक का शिकार हुए व्यक्ति की उम्र 40 साल से कम या इसके आस-पास देखने को मिल रही है। ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर ऐसा बदलाव क्यों हुआ है और क्यों कम उम्र में लोग इस जानलेवा बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। इसके अलावा ट्विटर पर भी हार्ट अटैक ट्रेंड कर रहा है।

कुछ वक्त से हार्ट अटैक से मरने वालों की तादाद में काफी इज़ाफ़ा होता जा रहा है। हार्ट अटैक से होने वाली मौतों की संख्या आए दिन बढ़ती जा रही है। वहीं इन दिनों हार्ट अटैक से मरने वालों के दिल दहला देने वाले वीडियोज़ सामने आते रहते है।आपने भी देखा होगा कभी कहीं स्टेज पर परफॉरमेंस के दौरान आर्टिस्ट को हार्ट अटैक आ गया तो कहीं किसी शख्स की डांस करते वक्त जान चली गई, तो कहीं जिम में वर्कऑउट करते समय किसी को भी हार्ट अटैक आ रहा है।

ये कि हार्ट अटैक एक साईलेंट किलर बनता जा रहा है। क्योंकि दिल अब कमज़ोर होता जा रहा है और इसकी सबसे बड़ी वजह है ख़राब खान-पान, डिप्रेशन और स्मोकिंग वग़ैरह। हालात इस क़दर ख़राब हो चुके हैं कि कच्चे होते दिलों के साथ अब नौजवान और सेहतमंद लोग भी हारट अटैक से जान गंवाने लगे हैं। लेकिन लाइफस्टाइल में बदलाव और खुद को फिट रखकर ही इस जोखिम से बचाव किया जा सकता है। बहुत से लोगों को हार्ट अटैक के बड़े खतरों के बारे में पता भी नहीं है। हार्ट अटैक की सबसे कॉमन वजहों के बारे में जान लेते हैं। यह भी जानेंगे कि हार्ट अटैक से बचने के लिए कौन से कदम उठाने चाहिए।

स्मोकिंग: सिगरेट पीना आज के दौर में फैशन हो गया है, लेकिन इसका धुंआ हार्ट के लिए गंभीर खतरे पैदा कर देता है। कई लोगों को सिगरेट की वजह से हार्ट अटैक आ जाता है। इसलिए सिगरेट को तुरंत छोड़ देना चाहिए।

डायबिटीजः हार्ट अटैक की सबसे बड़ी वजहों में डायबिटीज पहले नंबर पर आती है। डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल खतरनाक स्तर पर पहुंच जाए तो हार्ट अटैक का कारण बन जाता है। इसलिए डायबिटीज को कंट्रोल रखना चाहिए।

हाई कोलेस्ट्रॉल: कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने पर यह खून की नसों में जम जाता है और हार्ट में जाने वाले ब्लड को रोक देता है। इसकी वजह से हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट हो जाता है। कोलेस्ट्रॉल को हमेशा कंट्रोल रखना चाहिए।

हाई ब्लड प्रेशर: ब्लड प्रेशर की बीमारी से जूझने वाले लोगों को हार्ट अटैक का जोखिम ज्यादा होता है। ब्लड प्रेशर को अगर कंट्रोल न किया जाए तो यह हार्ट अटैक का कारण बन जाता है।

मोटापा: आपको जानकर हैरानी होगी कि मोटापा हमारी हार्ट हेल्थ के लिए बेहद नुकसानदायक होता है। मोटापे की वजह से हार्ट अटैक भी हो सकता है। इसलिए अपने वजन को कंट्रोल रखना चाहिए।

स्ट्रेस और डिप्रेशन: अधिकतर लोग तनाव की समस्या से जूझ रहे हैं। तनाव जब हद से ज्यादा हो जाए, तब डिप्रेशन में बदल जाता है। डिप्रेशन और तनाव की वजह से हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है।

फैमिली हिस्ट्री: कुछ लोगों के परिवार में हार्ट अटैक की हिस्ट्री होती है। इसकी वजह से कम उम्र के लोग भी हार्ट डिजीज का शिकार हो जाते हैं। अगर आपकी हार्ट अटैक की फैमिली हिस्ट्री है, तो एक्सपर्ट से जरूर संपर्क करें।

हार्ट अटैक की चपेट में आने से कैसे बचें?

यदि आप दिल की बीमारियों से सदैव दूर रहना चाहते हैं तो ये टिप्स अपनाएं…

  • ब्लड प्रेशर का जांच कराते रहें।
  • यदि फैमिली में डायबिटीज की हिस्ट्री है तो शुगर लेवल का ध्यान रखें।
  • बैलेंस डायट लें।
  • यदि स्मोकिंग और अल्कोहल का सेवन करते हैं तो छोड़ दें. यह संभव है।
  • नमक का सेवन सीमित मात्रा में करें।
  • पैकेज्ड फूड से जितना संभव हो दूर रहें।
  • सुबह देर तक ना सोएं।
  • एक्टिव रहें और लिमिटेड एक्सर्साइज जरूर करें।