Indore News : सीवरेज का उपचारित जल कर रहा बागवानी

इंदौर (Indore News) : आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल के निर्देश के क्रम में एसटीपी प्लांट से सीवरेज के उपचारित जल का शहर के उद्यानो, सेन्टर डिवाईडर, ग्रीन बेल्ट बागवानी में सिचांई तथा शहर के निकटम गांवो जिनमें भानगढ, जाखिया-भांगिया, शक्करखेडी, बारोली में कृषि सिंचाई कार्य के साथ ही डिवाईडर धुलाई, कचरा संगहण वाहनो की धुलाई, सीटीपीटी की धुलाई, सीवर लाईन क्लीनिंग तथा फाउण्टेन में सीवरेज के उपचारित जल का उपयोग किया जा रहा है।

Must Read : ओवैसी के Z सुरक्षा न लेने पर गृह मंत्री अमित शाह ने कह दी ये बड़ी बात

सहायक यंत्री श्री आरएस देवडा ने बताया कि आयुक्त सुश्री पाल के निर्देश के क्रम में नगर निगम, इन्दौर द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर संचालित 10 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के उपचारित जल के पुर्नउपयोग अंतर्गत विजय नगर, नंदा नगर, स्कीम नं. 136, नेहरू स्टेडियम, आजाद नगर, बिजलपुर, विष्णुपुरी इत्यादि क्षेत्रों के 170 उद्यानों, ग्रीनबेल्ट, डिवाईडर की बागवानी हेतु सिंचाई एवं सांवेर क्षेत्र के पाँच गांव में कृषि सिंचाई आदि के साथ ही ट्रेंचिंग ग्राउण्ड स्थित 100 एकड़ के सिटी फॉरेस्ट में भी उपचारित जल का उपयोग किया जा रहा है।

Must Read : स्पेशल हैंडलूम एक्सपो में वैष्णव इन्स्टीट्यूट के विद्यार्थियों ने अटेंड की वर्कशॉप, जानी प्रिंटिंग की खुबियां

इसके साथ ही सीवर लाईन, सीटी-पीटी, डिवाईडर, फुटपाथ, कचरा परिवहन वाहन, मेकेनाईज्ड स्वीपिंग मशीन के सफाई कार्य, शहर में चल रहे शासकीय संस्थाओं के निर्माण कार्य में ट्रीटेड वॉटर का पुर्नउपयोग किया जा रहा है तथा पिपलियापाला, नायता मुण्डला व पिपलियाहाना तालाबों में वाटर रिचार्जिंग / वाटर लेवल बनाये रखने हेतु उपचारित जल से तालाब भरे जा रहे है। उक्तानुसार एसटीपी से उपचारित जल के अधिक से अधिक पुर्नउपयोग की पहल से इन्दौर देश का पहला वॉटर प्लस शहर बना है।