बड़ा खुलासा: फर्जी जमानत करवाने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़, 10 वर्षो से नकली जमानतदारों के जरिये चल रहा था धंधा

fake bail gang exposed
fake bail gang exposed

इंदौर। क्राईम ब्रांच इंदौर पुलिस(Crime Branch Indore Police) ने बड़ा खुलासा करते हुए फर्जी जमानत करवाने वाले गिरोह(fake bail gang exposed) का भंडाफोड़ किया हैं, जो फर्जी ऋण पुस्तिका बनाकर कोर्ट से जमानत करवा देते थे आरोपियों के कब्जे से करीबन 1000 नकली खाली ऋण पुस्तिका, करीबन 80 जमानतदारो के नाम लिखी हुई ऋण पुस्तिका, राजस्व अधिकारियों के नाम व पद की अलग अलग 20 जिलो की कार्यालीन रबर की सील भी जप्त की गई हैं। गिरोह का मुख्य सरगना करीबन 10 वर्षो से नकली जमानतदार न्यायालय में पेश करने का काम कर रहा हैं व पहले भी इसके विरुद्ध इंदौर शहर के थानों में कई प्रकरण दर्ज हैं।

श्रीमान पुलिस आयुक्त इंदौर नगर हरिनारायणचारी मिश्र द्वारा इंदौर कमिश्नरेट में लोगों के साथ छलकपट कर धोखाधडी संबंधी अपराधों की पतारसी हेतु इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया है। उक्त निर्देशों के तारतम्य में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) श्री राजेश हिंगणकर के द्वारा पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) श्री निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) गुरू प्रसाद पाराशर को इंदौर शहर में हो रहे घटनाओं की पतारसी कर वारदातों पर अंकुश लगाने एवं ऐसे आरोपियों की धरपकड़ करने हेतु निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशों के तारतम्य में इन अपराधों में संलिप्त आरोपियों पर कार्यवाही हेतु अपराध शाखा की टीम को निर्देशित किया गया हैं ।

must read: Pension: मार्च के बाद रुक सकती है आपकी पेंशन, जल्द जमा करें ये डॉक्यूमेंट

इसी कड़ी में कार्यवाही के दौरान क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि सिक्ख मोहल्ला इंदौर पर फर्जी जमानत देने के लिए 4 व्यक्ति घूम रहे हैं। जिस पर क्राईम ब्रांच की टीम नें मुखबिर की सूचना पर कार्यवाही करते हुए घेराबंदी की योजना बनाकर 4 आरोपियों को हिरासत में लिया जिनके नाम हैं-
1. करण पिता दीपक चावडा उम्र 19 साल नि. म.न.श्र-61 अहीर खेडी मल्टी हवा बंगला द्वारकापुरी
2. प्रकाश पिता बलवंत मालवीय उम्र 60 साल नि. ग्राम मुण्डली तह. तराना जिला उज्जैन
3. रमेश पिता स्व. गंगाराम बोडना उम्र 50 साल नि. संत रविदास नगर आवास नगर बी.एन.पी. थाने के पीछ जिला देवास
4. कैलाश पिता बद्रीप्रसाद प्रजापत उम्र 48 साल नि. 125 भगत सिंह नगर सांवेर रोड इंदौर

आरोपियों की तलाशी लेते वक्त उनके कब्जे से करीबन 1000 खाली ऋण पुस्तिका, जमानतदारों के नाम लिखी करीबन 80 ऋण पुस्तिका एवं विभिन्न जिलो के तहसीलदारों की कार्यालीन रबर की मोहरे करीबन 80 नग तथा अन्य सामान जप्त कर अग्रिम वैधनिक कार्यवाही की जा रही है।

आरोपियों से पूछताछ के दौरान गिरोह के सरगना आरोपी करण नें बताया कि वह प्रकाश चावडा का भतीजा हैं तथा अपने चाचा के साथ मिलकर नकली जमानतदार न्यायालय में पेश करता था। करण का चाचा प्रकाश थाना एम.जी. रोड इंदौर से फर्जी जमानतदार के अपराध में पूर्व मे भी पकडा गया था।।

must read: Indore के लिए AICTSL की नई सस्टेनेबल पेशकश, जल्द शुरू होगी MyByk साइकिल

आरोपियों द्वारा तहसील कार्यालय की भी कई प्रकार की रबर एवं स्टील की सील जैसे कि तहसील धार जिला धार ,तहसील महिदपुर जिला धार, तहसील टोंक खुर्द जिला देवास ,तहसील देपालपुर जिला इंदौर, तहसील घटिया जिला उज्जैन ,तहसील बोलाई जिला शाजापुर, तहसील अम्बेडकर नगर जिला इन्दौर, तहसील तराना जि.उज्जैन, तहसील गुलाना जिला शाजापुर, तहसील हातोद जिला इन्दौर,तहसील रतलाम जि.रतलाम,तहसील देवास जि.देवास,तहसील इन्दौर जि.इन्दौर, तहसील कन्नौद जि.देवास, तहसील सोनकच्छ जि.देवास, तहसील, नागदा जि. उज्जैन,तहसील उज्जैन जि.उज्जैन, तहसील महिदपुर जिला उज्जैन ,तहसील सांवेर जि.इन्दौर,तहसील महू जि.इन्दौर, कार्यालय तहसीलदार महु, इन्दौर जिला इन्दौर, की रबर की सीलें बनवा रखी थी।