कांग्रेस (Congress) पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के सबसे बड़े उम्मीदवार और पूर्व मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने राज्यसभा में नेता विपक्ष के पद से अपना इस्तीफा दे दिया है। एक समय एक पद के प्रस्ताव का पालन करते हुए खड़गे ने यह इस्तीफा दिया है। उन्होंने अपना यह इस्तीफा कांग्रेस की आलाकमान सोनिया गाँधी को सौंपा है। उल्लेखनीय है कि खड़गे ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष के चुनाव में अपना नामांकन दाखिल किया था।

Also Read-Uttarakhand : केदारनाथ में सरका बड़ा हिमखंड, मंदिर को नहीं हुआ कोई नुकसान, वीडियो आया सामने

क्या है एक नेता, एक पद का प्रस्ताव

मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस एक समय, एक पद के प्रस्ताव का पालन करते हुए राजयसभा में नेता विपक्ष के पद से अपना इस्तीफा दिया है, दरअसल उदयपुर में कांग्रेस ने एक चिंतन शिविर आयोजित किया था, जिसमें एक नेता, एक पद का प्रस्ताव पारित किया गया था। इस प्रस्ताव के अनुसार कांग्रेस पार्टी का कोई भी नेता एक समय में एक से अधिक पद पर आसीन नहीं रह सकता है।

Also Read-स्वच्छता सर्वेक्षण: क्या फिर Indore बनेगा Number 1 , लगाएगा स्वच्छता का छक्का, महापौर भार्गव के साथ 25 स्वच्छता कर्मियों का समूह दिल्ली रवाना

खड़गे का पलड़ा सबसे भारी

गौरतलब है की कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम सबसे ज्यादा संभावित उम्मीदवारों में सबसे ऊपर है। दरअसल अशोक गेहलोत के कांग्रेस पार्टी के आलाकमान की नाराजगी का शिकार होने के बाद कई नामों को लेकर कयास लगाई जा रही थी। जहां एक और केरल से कांग्रेस पार्टी के संसद शशि थरूर और पूर्व मंत्री के एन त्रिपाठी अपना नामांकन दाखिल करने के बाद भी आलाकमान की पहली पसंद नहीं हैं, वहीं दिग्गी राजा का पत्ता उनकी छवि को लेकर कटा माना जा रहा है।