Homeदेशमध्य प्रदेशमुख्यमंत्री चौहान ने स्वच्छता के क्षेत्र में सभी शहरों और प्रदेश को...

मुख्यमंत्री चौहान ने स्वच्छता के क्षेत्र में सभी शहरों और प्रदेश को नंबर वन बनाने के लिए दिलवाया संकल्प

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को देश का नंबर वन प्रदेश बनाया जाये।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को देश का नंबर वन प्रदेश बनाया जाये। यह तभी संभव है जब हर शहर स्वच्छता के क्षेत्र में सक्रिय हिस्सेदारी निभाये और अपने-अपने शहरों को सबसे सुंदर और स्वच्छ शहर बनायें। उन्होंने प्रदेश को देश का नंबर वन प्रदेश बनाने के लिये संकल्प दिलवाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर शहर को अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिए। इस विरासत को आगे बढ़ाने तथा विकास में जनभागीदारी सुनिश्चित करने के लिये सभी शहर अपना-अपना स्थापना दिवस मनाये।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज इंदौर में आयोजित राज्य स्तरीय स्वच्छता प्रेरणा महोत्सव को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की विशेष उपस्थिति में आज इंदौर में राज्य स्तरीय स्वच्छता प्रेरणा महोत्सव मनाया गया। प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में इस कार्यक्रम के साथ ही स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 की तैयारियों का शंखनाद भी हो गया है। इंदौर में महोत्सव के तहत स्वच्छता प्रेरणा कार्यशाला भी हुई, जिसका सीधा प्रसारण सभी नगरीय निकायों में दिखाया गया। इंदौर में आयोजित समारोह में जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, राज्यमंत्री नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री ओ.पी.एस. भदौरिया, सांसद श्री शंकर लालवानी, विधायक श्री महेंद्र हार्डिया, श्रीमती मालिनी गौड़, श्री आकाश विजयवर्गीय, श्री देवेंद्र वर्मा तथा श्री नारायण पटेल, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री मनीष सिंह, आयुक्त नगरीय प्रशासन श्री निकुंज श्रीवास्तव, संचालक स्वच्छ भारत मिशन भारत सरकार श्री विनय शंकर झा विशेष रूप से मौजूद थे। समारोह में नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह वर्चुअल रूप से शामिल हुए।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि मध्यप्रदेश को स्वच्छता का अद्भुत गौरव मिला है। हमारे प्रदेश के बड़ी संख्या में शहरों ने देश में स्वच्छता के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है। यह हमारे लिए पढ़ाव नहीं है, इसे और आगे बढ़ाना है और प्रदेश को देश का सबसे सुंदर और स्वच्छ शहर के रूप में बनाया जाना है। इसके लिए सभी को मिलकर कार्य करने की जरूरत है। सभी यह संकल्प लें कि हम अपने-अपने शहरों को सुंदर और स्वच्छ बनाएंगे। शहर सुंदर और स्वच्छ होंगे तो प्रदेश भी स्वच्छ और सुंदर बनेगा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के लगातार पांचवीं बार अव्वल आने पर बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इंदौर देश की शान है। इंदौर स्वच्छता की पाठशाला है। उन्होंने कहा कि यह पक्का विश्वास है कि इंदौर छठवीं बार भी स्वच्छता में देश में नंबर वन रहेगा। स्वच्छता को इंदौर ने दिल से अपनाया है। उसने स्वच्छता को अपने स्वभाव, भावनाओं, विचारों और कर्मों में शामिल किया है। इंदौर की जनता को इस उपलब्धि के लिए बहुत-बहुत बधाई। उन्होंने कहा कि इंदौर में हुए स्वच्छता संबंधी कार्यों से अन्य शहरों को प्रेरणा लेना चाहिए। स्वच्छता संबंधी इस कार्यक्रम के लिए इंदौर सही मायने में अधिकारी था। इंदौर से स्वच्छता का पाठ सीखने को मिलता है। यहां इस सम्मेलन में आए सभी प्रतिनिधि इंदौर का भ्रमण करें और स्वच्छता को देखें, स्वच्छता का पाठ सीखे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमारा मध्यप्रदेश अभी स्वच्छता के क्षेत्र में देश में तीसरे स्थान पर है, इसे अब हमें नंबर वन का प्रदेश बनाना है। इसके लिए सभी एकजुट होकर कार्य करें स्वच्छता को चुनौती के रूप में लें।

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल ‍बिहारी वाजपेयी जी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने भारत के मान और सम्मान को दुनिया में बढ़ाया है। सुशासन की नई दिशा दिखाई है। शक्तिशाली भारत की नींव रखी है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता संबंधी संकल्प को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने स्वच्छता को हमारे स्वभाव में शामिल करवाया है। पूरे हिंदुस्तान की सोच को बदला है। स्वच्छता के क्षेत्र में भारत तेजी से नई इबारत लिख रहा है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के सभी मापदंडों को अपनाया जाए। अपने-अपने शहरों को सुंदर और स्वच्छ बनाने में सभी जुट जाएं और वर्ष 2022 में एक नई उपलब्धि हासिल करें।

इंदौर सहित प्रदेश के सभी शहर मनाये अपना-अपना स्थापना दिवस

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी शहरों की अपनी-अपनी विरासत है। इस विरासत पर हमें गर्व होना चाहिए। इस विरासत को आगे बढ़ाने और विकास के क्षेत्र में जन भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सभी शहर अपना स्थापना दिवस मनाएं। इस दिन शहरों को सजाया जाए। विभिन्न क्षेत्रों में शहरों का नाम रोशन करने वाले विशिष्ट जनों को आमंत्रित किया जाए, उनके अनुभव का लाभ लिया जाए और विकास को नई दिशा दी जाए।

स्वच्छता वीरों से संवाद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नगरीय निकाय देवास, मूंदी एवं सागर में उपस्थित सफाई मित्रों और नागरिक समूहों से संवाद किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सीवर एवं सेप्टिक टैंक की सफाई के लिए मानक संचालन प्रक्रिया बुक का विमोचन किया। उन्होंने आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर 75 शहरों की 75 बदलाव की कहानियों की डिजिटल कॉफी टेबल बुक का विमोचन भी किया। स्वच्छता प्रेरणा महोत्सव के तहत प्रदेश के नगरीय निकायों में आयोजित कार्यक्रम में स्वच्छता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने वाले स्वच्छता कर्मी, कर्मचारियों, स्थानीय नागरिकों, रेसीडेंट वेलफेयर सोसायटी और अशासकीय स्वयंसेवी संगठनों को सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ‘स्वच्छता गान’ गायकों और पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित किया।

मैं हूं झोलाधारी इंदौरी बैग पहनकर इंदौर के स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के लोगो का विमोचन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य सभी अतिथियों ने मैं हूँ झोलाधारी इंदौरी ईको फ्रेंडली बैग पहनकर इंदौर नगर निगम के स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के लिए तैयार किये गये लोगो और अन्य प्रचार सामग्री का विमोचन किया। उन्होंने इंदौर को छठवीं बार अव्वल रहने की शुभकामनाएं भी दी।

इंदौर को किया विशेष रूप से सम्मानित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वच्छता में लगातार पांच बार अव्वल रहने पर इंदौर नगर निगम को विशेष रूप से सम्मानित किया। यह सम्मान संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, अपर आयुक्त श्री संदीप सोनी तथा सफाई कर्मी श्रीमती उषा बाई ने ग्रहण किया। मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर इंदौर‍ जिले की नगर पंचायत राऊ को भी सम्मानित किया। राऊ की तरफ से यह सम्मान एसडीओ श्री प्रतुल सिन्हा, मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री राकेश चौहान और श्री हरीश व्यास तथा ताराचंद हाडे ने प्राप्त किया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में आयुक्त नगरीय प्रशासन श्री निकुंज श्रीवास्तव ने स्वागत उद्बोधन दिया। समारोह में स्वच्छ भारत मिशन के संचालक श्री विनय शंकर झा ने भी संबोधित किया। उन्होंने स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 की प्रक्रिया के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इंदौर स्वच्छता की पाठशाला बन गया है। इंदौर के मॉडल को देश और विदेश में सराहा जा रहा है।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular