UP Elections: दागी उम्मीदवारों को लेकर एक दूसरे पर वार

बरेली। यूपी चुनाव (UP Elections) में दागी उम्मीदवारों को लेकर राजनीतिक दलों द्वारा एक दूसरे पर वार किया जा रहा है।

बरेली। यूपी चुनाव (UP Elections) में दागी उम्मीदवारों को लेकर राजनीतिक दलों द्वारा एक दूसरे पर वार किया जा रहा है। इसी तारतम्य में सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भाजपा को घेरते हुए कहा है कि योगी आदित्यनाथ एंड पार्टी ने 90 से अधिक ऐसे उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है जिनका किसी न किसी रूप से आपराधिक रिकॉर्ड है।

दिलचस्प हो रहा है चुनाव का माहौल –

यूपी में विधानसभा चुनाव के दिन नजदीक आ रहे है वैसे-वैसे चुनावी माहौल दिलचस्प होता जा रहा है। एक दूसरे के बयान को लेकर तंज कसना, चुनावी घोषणाएं करना और बगैर शोर शराबा चुनाव प्रचार करना यूपी में दिखाई दे सकता है। इधर अखिलेश का यह कहना है कि भाजपा  की कथनी और करनी में अंतर दिखाई देता है क्योंकि भाजपा के योगी आदित्यनाथ ही नहीं बल्कि अन्य प्रमुख नेता यह कहते है कि पार्टी में आपराधिक छबि वाले लोगों की जगह नहीं तो फिर ऐसे आपराधिक रिकॉर्ड वाले नेताओं को चुनावी मैदान में भाजपा ने क्यों उतारा है।

बस एक की ही कमी है –

अखिलेश ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि योगी आदित्यनाथ ने अभी तक 99 आपराधिक रिकॉर्ड वाले नेताओं को टिकट दिया है, बस एक की ही ऐसे व्यक्ति की कमी है। योगी को एक ऐसे ही नेता को टिकट देकर आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगांे की संख्या को 100 तक कर लेना चाहिए। यदि ऐसा होता है तो सौ का आंकड़ा या फिर शतक लग जाएगा।

योगी भी नहीं चूके –

सपा प्रमुख अखिलेश द्वारा तंज कसने के पहले सूबे के मौजूदा सीएम आदित्यनाथ ने भी सपा के उम्मीदवारों पर हमला बोला है। उन्होंने यह कहा था कि सपा ने आपराधिक रिकॉर्ड वाले उम्मीदवारों को खड़ा किया है, वे शायद सपा की नजर में समाजसेवी होंगे।