इन बीमारियों को दूर करने के लिए तुलसी है रामबाण इलाज, जाने फायदे

हिंदुओं में तुलसी को पवित्र माना जाता है पुराने समय से ही तुलसी में सुबह-शाम जल चढ़ाने के साथ ही दीपक जलाकर पूजा करने की परंपरा रही है तुलसी का धार्मिक महत्‍व तो है ही साथ ही यह कई बीमारियों का रामबाण इलाज है।

0
39
tulsi

हिंदुओं में तुलसी को पवित्र माना जाता है। पुराने समय से ही तुलसी में सुबह-शाम जल चढ़ाने के साथ ही दीपक जलाकर पूजा करने की परंपरा रही है। तुलसी का धार्मिक महत्‍व तो है ही साथ ही यह कई बीमारियों का रामबाण इलाज है। तुलसी के पत्ते जब दूध में उबलते हैं तो तुलसी के सारे गुण इस दूध में आ जाते हैं। दूध में अपने आप में एक संपूर्ण पोषण होता है, तो दोनों साथ में मिलकर शरीर की कई कमियों को दूर करने के साथ बीमारियों से भी मुक्त करते हैं। तुलसी सांस की बीमारी, मुंह के रोगों, बुखार, दमा, फेफड़ों की बीमारी, हृदय रोग और तनाव से छुटकारा पाने में बहुत ही कारगर है।

  • तुलसी की छाया शुष्क मंजरी के 1-2 ग्राम चूरन को शहद के साथ खाने से सिर से संबंध‍ित बीमारियों में लाभ मिलता है।
  • तुलसी की पांच पत्तियों को रोजाना पानी के साथ निगलने से बुद्धि, और मस्तिष्क की शक्ति बढ़ती है।
  • तुलसी तेल को 1-2 बूंद नाक में टपकाने से पुराना सिर दर्द दूर हो जाता है।
  • आप दस्त से परेशान हैं तो तुलसी के पत्तों का इलाज आपको फायदा देगा। तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें। इसके बाद उसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें. ऐसा करने से दस्त रुक जाती है।
  • तुलसी के तेल को सिर में लगाने से जुएं और लीखें मर जाती हैं। तेल को मुंह पर मलने से चेहरे का रंग साफ हो जाता है।
  • खांसी अथवा गला बैठने पर तुलसी की जड़ सुपारी की तरह चूसी जाती है।
  • तुलसी की हरी पत्तियों को आग पर सेंक कर नमक के साथ खाने से खांसी तथा गला बैठना ठीक हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here