जनजातीय विद्यार्थियों की लग गई लॉटरी, एक साथ मिलेगी इतनी सारी सौगातें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुसार इंदौर नगर में शासकीय तथा अशासकीय छात्रावासों में रहने वाले जनजातीय विद्यार्थियों के सहयोग और उनके बेहतर भविष्य के संबंध में मार्गदर्शन देने और अन्य समस्याओं के निराकरण के लिये सपोर्ट सेल का गठन किया जाएगा। यह जानकारी आज यहां कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा इस संबंध में तैयार किये जाने वाले ड्राफ्ट के संबंध में ली गई बैठक में दी गई।

must read: बेरोजगारों के लिए खुशखबरी: रोजगार मेला, टाटा मोटर्स से जुड़ने का स्वर्णिम अवसर न गवाएं

बैठक में नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल, अपर कलेक्टर आर.एस. मण्ड लोई सहित अन्य अधिकारी, हॉस्टल एसोसिएशन के पदाधिकारी तथा शासकीय हॉस्टलों के अधीक्षक उपस्थित थे। बैठक में बताया गया कि इंदौर शहर के हॉस्टलों और अन्य आवासीय स्थलों पर रहने वाले अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए सपोर्ट सेल का गठन होगा। इस सेल का ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है। इस ड्राफ्ट को तैयार करने के लिए आज हॉस्टल एसोसिएशन और अधीक्षकों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में उनसे विचार-विमर्श कर सुझाव लिए गये। इसी तरह आगामी दिनों में जनजातीय विद्यार्थियों से भी चर्चा की जाएगी तथा उनसे भी सुझाव लिये जाएंगे।

सेल के माध्यम से उनकी आवश्यकताओं का पता लगाया जाएगा तथा उनकी आवश्यकताओं की पूर्ति की जाएगी। आगे बढ़ने और बेहतर भविष्य निर्माण के लिए इस सेल के माध्यम से मदद दी जाएगी। उन्हें मार्गदर्शन दिया जायेगा तथा उनके समस्याओं का निराकरण किया जायेगा। सपोर्ट सेल के गठन के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की जा रही है। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि जनजातीय विद्यार्थियों का डेटाबेस भी तैयार किया जा रहा है। इसके एक ऐप बनाया जा रहा है। जिसमें जनजाति के विद्यार्थियों का पंजीयन होगा और जानकारी संकलित की जाएगी।