टीका नहीं लगवाने वालों को जेल जाना होगा- इंदौर प्रशासन

ऐसे संस्थान जिनके कर्मचारी एवं कामगारों आदि को कोरोना के टीके का दूसरा डोज नहीं लगा है, उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी।

कलेक्टर मनीष सिंह ने कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर सभी नागरिकों से आग्रह किया है कि वे विशेष सावधानी एवं सतर्कता रखें। कोरोना टीके का दूसरा डोज अनिवार्य रूप से लगवायें। ऐसे संस्थान जिनके कर्मचारी एवं कामगारों आदि को कोरोना के टीके का दूसरा डोज नहीं लगा है, उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। जहां एक ओर उनके संस्थान को सील किया जायेगा, वहीं दूसरी ओर उनके विरूद्ध एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी।

कलेक्टर मनीष सिंह ने सभी से आग्रह किया है कि वे अतिशीघ्र अपना टीकाकरण पूर्ण करवा लें। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या जिस मान से देश में बढ़ रही है, वह हमारे लिये चिंताजनक है। ऐसे समय में सावधानी एवं सतर्कता रखने की जरूरत है। कोरोना संक्रमण के प्रभाव से बचने के लिये टीकाकरण सबसे महत्वपूर्ण उपाय है। दूसरा डोज लग जाने से संक्रमण का प्रभाव कम होगा। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिये लगातार अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने नागरिकों से कहा कि वे स्वयं तो टीका लगवायें ही, साथ ही दूसरों को भी टीका लगावाने के लिये प्रेरित करें। सभी व्यावसायिक संस्थानों के प्रबंधकों को निर्देश दिये हैं कि अनिवार्य रूप से अपने सभी कर्मचारियों का टीकाकरण पूर्ण करवा लें। अगर एक भी कर्मचारी बगैर टीकाकृत मिलता है तो उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी।