भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कैबिनेट की बैठक की। इस बैठक में सीएम ने कई अहम फैसले लिए जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज ने बताया कि मध्यप्रदेश में 1 फरवरी से 15 फरवरी तक विकास यात्राएं निकाली जायेगी। साथ ही अब सीएम शिवराज ने निर्देश दिए कि वृहद परियोजनाओं के कार्य तय समय सीमा और गुणवत्तापूर्ण पूरा किया जाए।

माइक्रो सिंचाई को मिली स्वीकृति

इसके साथ ही बैठक में माइक्रो सिंचाई परियोजना को स्वीकृति दी गई। परियोजना की अनुमानित लागत 112 करोड़ 50 लाख रूपये है। परियोजना के पूरा होने से बुरहानपुर जिले की खकनार तहसील के 10 ग्रामों में 4400 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। सीएम ने बताया कि इन परियोजना का मंत्री अथवा विधायक अपने क्षेत्रों का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे।

748 करोड़ रूपए की 6 महत्वपूर्ण परियोजनाएं हुई स्वीकृत

सीएम शिवराज द्वारा जल संसाधन विभाग की 6 वृहद परियोजनाओं की स्वीकृति की अनुशंसा की गई। इसके लिए 38470 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई क्षमता में वृद्धि हो सकेगी। इसके लिए 748 करोड 57 लाख रुपए का अनुमानित लागत तय किया गया है।CM शिवराज द्वारा वृहद परियोजना नियंत्रण मंडल की 170 बैठक की अध्यक्षता में इस पर अनुशंसा की गई है।

इसके अलावा प्रदेश सरकार ने पेयजल योजना 2023 को भी स्वीकृति दी है। जिसके तहत प्रदेश के किसानों को बड़ी राहत मिलेगी साथ यदि वाटर लेवल तो व्यक्ति को सजा को तौर पर जेल का प्रावधान है लेकिन अब यह जुर्माना में बदल दिया गया है।

Also Read : विधायक संजय शुक्ला ने सरकार से की मांग, कोरोना वायरस को प्रदेश में फैलने से रोकने के लिए गंभीरता से लिए जाए फैसले

मध्य प्रदेश में 5 दिन होगा काम

प्रदेश सरकार ने एक अहम फैसला यह भी लिया है कि अब दफ्तरों में सिर्फ 5 दिन (सोमवार से शुक्रवार) काम होगा। इसके अलावा शनिवार और रविवार को दफ्तर व कार्यालय बंद रहेंगे। बता दें इससे पहले यह नियम 31 दिसंबर 2022 तक लागू रहने वाला था लेकिन अब अगले आदेश तक इसे यथावत रखने के निर्देश दिए गए है।