इन दिनों मध्य प्रदेश में हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं खंडित करने का सिलसिला शुरू हो गया है. उज्जैन के राम घाट पर नव नारायण की प्रतिमा और योगेश्वर टेकरी में नंदी प्रतिमा खंडित करने के बाद अब शनि देव की मूर्ती को खंडित किया गया है. कुछ दिन पहले दमोह में भी शिवलिंग तोड़ी गई थी. पुलिस इन सभी मामलों में अभी जांच ही कर रही है.

मामला महीदपुर तहसील के ग्राम खेड़ाखाजूरिया मार्ग पर स्त्तिथ शनि नव ग्रह मंदिर से सामने आया है, यहां अज्ञात असामजिक तत्वों ने शनि देव की प्रतिमा को रविवार-सोमवार की रात खंडित कर दिया. सुबह ग्रामीणों को सूचना लगी तो हंगामा खड़ा हो गया. घटना के 2 दिन बाद फोटो व वीडियो सामने आए हैं. पुलिस पूरे मामले में जांच पड़ताल कर असामाजिक तत्वों की तलाश में जुट गई है.

प्रतिमा की टूटने की जानकारी पास ही में खेत पर पानी दे रहे एक मजदूर किसान को लगी थी. सुबह ग्रामीणों को किसान ने जानकारी दी और उसके बाद डायल 100 के माध्यम से थाना राघवी पुलिस को मौके पर बुलाया गया. पुलिस ने जांच पड़ताल कर अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है.

उज्जैन में 20 नवंबर को भी एसी ही एक घटना जो कि शहर के थाना महाकाल क्षेत्र अंतर्गत श्री राम घाट पर नव नारायण की प्रतिमा को खंडित किया गया था. उज्जैन में ही दूसरे घटना 7 दिसंबर को आई थी, जहां क्षीर सागर स्थित योगेश्वर टेकरी पर भगवान शिव के मंदिर में नंदी के प्रतिमा को खंडित कर दिया गया था
रविवार रात दमोह के बिलवारी मुहल्ला इलाके की प्राचीन शिव हनुमान मंदिर में एक मुस्लिम युवक ने भगवान शिव की प्रतिमा को खंडित कर दिया था. हालांकि पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया था.