एक धावक पर जीतू पटवारी के दांव से चित्त हुए दिग्गज शिवराज सिंह और किरण रिजिजू…

अपने राज्य के खेलमंत्री कि सराहना करते हुए इस धावक ने कहा “मै बहुत खुश हूँ की मै आज जीतू पटवारी जी के साथ बैठा हूँ ये मेरे लिए किसी सपने के सच होने जैसा है।

0
62
jitu patwari

डॉ ब्रह्मदीप अलूने-

अपने अलग अंदाज, बेखौफ बयानों और तत्परता से कदम उठाने के लिए देशभर में मशहूर मध्य प्रदेश के युवा खेल मंत्री जीतू पटवारी एक बार फिर चर्चा में है। इस बार एक धावक को लेकर उनकी तत्परता ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू को भी हैरत में डाल दिया है।

rameshvar gurjar

दरअसल मध्य प्रदेश में फ़ौजियों कि जमीन के नाम से मशहूर शिवपुरी जिले के एक गाँव से धावक रामेश्वर गुर्जर का नंगे पैर 11 सेकंड में 100 मीटर दौड़ने का वीडियो अब सवा अरब की आबादी वाले देश की आशाओं का प्रतीक बन गया है। गरीबी से जूझते और दूध बेचकर अपने परिवार कि जिंदगी बसर करने मे सहायता करने वाले रामेश्वर गुर्जर कि दौड़ कि गूंज इस समय पूरे देश मे है। उन्हे केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी बुलाया आया है। लेकिन युवा धावक रामेश्वर गुर्जर मध्य प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी कि तत्परता के कायल हो गए है और उन्होंने अपने राज्य के खेल मंत्री पर सबसे ज्यादा भरोसा जताया है।

अपने राज्य के खेलमंत्री कि सराहना करते हुए इस धावक ने कहा “मै बहुत खुश हूँ की मै आज जीतू पटवारी जी के साथ बैठा हूँ ये मेरे लिए किसी सपने के सच होने जैसा है। मेरा वीडियो वायरल होते ही कुछ ही मिनटों में प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी जी का मेरे पास फोन आया कि बेटा आप कहा हो,हमसे आकर मिलों। वह पल मेरे लिए रोमांचित करने वाला था और सचमुच इस फोन ने मेरी जिंदगी बदल दी। मै देश का नाम रोशन करना चाहता हूँ और मध्य प्रदेश सरकार ने मुझे पूरा भरोसा दिलाया है की वे मेरी डाइट समेत उच्च प्रशिक्षण देकर बोल्ट का रिकार्ड तोड़ने के मेरे सपने को पूरा करने में मेरी पूरी मदद करेंगे।“

jitu patwari

मध्य प्रदेश कि खेल प्रतिभाओं को निखारने को संकल्पित खेल मंत्री जीतू पटवारी सोशल मीडिया पर भी बहुत लोकप्रिय है और समाचार पत्रों कि सूचनाओं पर ध्यान देकर तत्परता से कदम उठाते रहे है। कुछ दिनों पहले होशंगाबाद के एक गाँव कि दृष्टिहीन सरिता चौरे के कामनवेल्थ गेम्स मे जुड़ों चैम्पियनशिप मे चयन होने लेकिन पैसे के अभाव मे जाने कि समस्या को लेकर एक समाचार पत्र मे खबर छ्पी थी। मंत्री जीतू पटवारी ने इस पर तुरंत कदम उठाते हुए ट्विटर पर मदद करने का पूरा भरोसा दिलाया और इसके बाद अपने खेल अधिकारी को सरिता चौहान से मिलने भी भेजा।

bolt

बहरहाल धावक रामेश्वर गुर्जर को सबसे पहले फोन कर,अधिकारियों को भेजने और भोपाल अपने निवास पर मुलाक़ात जैसे त्वरित कदम उठाकर मंत्री जीतू पटवारी ने न केवल धावक,उसके परिजन और प्रदेश वासियों का दिल जीत लिया बल्कि अपने तेज दांव से केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी चित्त कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here