सैमसंग #IndiaReadyAction कैम्पेन ने बनाया नया रिकॉर्ड, 16 करोड़ लोगों की हुई भागीदारी

0
35
samsung

गुरुग्राम: भारत की नाइटलाइफ उतनी ही खास और रोमांचक है जितने की यहां के त्योहार।अंडमान का बाराटांग द्वीप घूमने के लिए एक अहम पर्यटन गंतव्‍य है। खेल का मतलब सिर्फ क्रिकेट नहीं बल्कि इससे ज़्यादा हैऔर बात मनोरंजन की हो तो मिलेनियल्स के लिए स्‍थानीय रॉक संगीत के साथ रंगमंच की संस्‍कृति भी उतनी ही प्रासंगिकता रखती है। भारत की जनरेशन ज़ी (Gen Z) और मिलेनियल्स ने सैमसंग ‘इंडिया रेडी एक्‍शन’अभियान के ज़रिए देश से जुड़ी रूढ़धारणा कोवीडियो को अपनी अभिव्‍यक्ति का माध्‍यम बनाते हुए, बदलने की कोशिश की।

चार सप्‍ताह लंबे सफल अभियान के बाद, जिसमें इंस्‍टाग्राम और फेसबुक पर 16.18 करोड़ की भागीदारी देखी गई। प्रतिभागियों द्वारा भेजे गए वीडियो ने एक अलग भारत को दर्शाया– एक वास्‍तविक भारत जिसे युवा पूरी दुनिया को दिखाना चाहते हैं। इसने पिछले एक साल में इंस्‍टाग्राम और फेसबुक पर #IndiaReadyAction को सबसे ज्‍यादा जुड़ने वाला अभियान बना दिया।

दिलचस्‍प बात यह है कि यह युवा पूरे भारत के गैर-मेट्रो शहरों से हैं, जिन्‍होंने अपने वीडियो के माध्‍यम से इस बदलाव-प्रदर्शन का नेतृत्‍व किया। अभियान के दौरान वीडियो देश के अलग-अलग क्षेत्रों जैसे गैंगटोक, सांगली, पौढ़ी, जोरहट, नवगढ़, केदारनाथ, मोरबी, भरूच और गंडेरबाल से प्राप्‍त हुईं।

भारत की सबसे विश्‍वसनीय मोबाइल और उपभोक्‍ता इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स ब्रांड सैमसंग द्वारा हाल ही में किए गए सर्वेक्षण में यह पाया गया है कि विदेशियों के मन में भारत को लेकर कई गलत धारणाएं हैं। उनके लिए, देश में केवल ताज महल या गंगा नदी ही प्रमुख पर्यटन आकर्षण हैं, खाने का मतलब करी और मसाले हैं, मनोरंजन केवल बॉलीवुड और क्रिकेट हैं। वास्‍तविक भारत में कुछ और भी हो सकता है, इसके बारे में वह बहुत कम जानते हैं।

वीडियो के जरिये खुद को अभिव्‍यक्‍त करने वाले युवाओं की पसंद को माध्यम बनाते हुए, #IndiaReadyAction अभियान ने भारत की जनरेशन ज़ी (Gen Z)और मिलेनियल्स को वीडियों के ज़रिये वास्‍तविक भारत को लेकर उनकी सोच को साझा करने का आग्रह किया, जो देश के बारे में मौजूद धारणाओं को बदलने में मदद करते हैं। जनरेशन ज़ी (Gen Z)और मिलेनियल्स आज न केवल कंटेंट उपभोक्‍ता हैं, बल्कि वह कंटेंट क्रिएटर्स भी हैं। वह सामाजिक रूप से बहुत जागरूक हैं,जो भारत को लेकर जोश में रहती है।

सैमसंग इंडिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर, रणजीवजीत सिंह ने कहा, ‘सैमसंग मेंहम अपनी इस समझ पर गर्व करते हैं कि भारतीय युवा क्या चाहते हैं। #IndiaReadyAction ने युवाओं को अपनी वीडियो बनाने की क्षमता के माध्यम से वास्तविक भारत को प्रदर्शित करने के लिए एक मंच प्रदान किया है। अभियान में पूरे दश से युवाओं की मज़बूत भागीदारी देखी गई है, जिन्होंने अपने अनूठे वीडियो कंटेंट के जरिये भारत से जुड़ी कुछ गलत धारणाओं को तोड़ने की कोशिश की है।’

उन्‍होंने आगे कहा, मिलेनियल्स ‘ऐरा ऑफ लाइव’ में जी रहे हैं और इस अभियान ने यह स्‍थापित किया है कि खुद को व्यक्त करने के लिए वीडियो तेज़ी से उनका पसंदीदा माध्‍यम बन रहा है। हमारे हाल ही में लॉन्‍च किए गए गैलेक्‍सी Aसीरीज स्‍मार्टफोन और सैमसंग स्‍मार्ट टीवी लोगों को ऐरा ऑफ लाइवमें ले जाने में सक्षम बनाते हैं।’

45 प्रतिशत से ज़्यादावीडियो ‘Places’के बारे में धारणाएं तोड़ने पर केंद्रित रहीं, जो स्‍पष्‍ट रूप से संकेत देता है कि युवाओं को अपने शहर से मज़बूत जुड़ाव है। ऊटी के ब्‍लू माउंटेन से लेकर केरल के वेगामोन तक, स्‍पिति की घाटी से लेकर राजस्‍थान में भीलवाड़ा से अंडमान के दर्शनीय मायाबुंदर तक, युवाओं ने इन स्‍थानों के वीडियो को वैसे ही साझा किया है जैसे उन्‍होंने ग्‍वालियर के किले और चार मीनार के वास्‍तुशिल्‍प चमत्‍कारों को साझा किया था। यह केवल प्राकृतिक परिदृश्‍य या ऐतिहासिक संपत्ति के बारे में नहीं है, अभियान के दौरान साझा की गई वीडियो ने उस गौरव को भी दिखाया, जिसे युवा एक विकसित भारत और इसके बदलते बुनियादी ढांचे के लिए महसूस करते हैं। कोल्‍लम, कुल्‍लू, वायनाड, रत्‍नागिरी, जलगांव और अहमदनगर की जनरेशन ज़ी (Gen Z)और मिलेनियल्स ने ‘भारत प्रदूषित है’इस धारणा को तोड़ने की कोशिश की।

‘Food ’श्रेणी में 23 प्रतिशत वीडियो के साथ, युवाओं ने उस धारणा को चुनौती दी है जो कहती है कि ‘भारत केवल करी के लिए लोकप्रिय है।’उन्‍होंने पुरानी दिल्‍ली के स्‍वादिष्‍ट मुगलई व्‍यंजन, तिब्‍बती भोजन, झारखंड की मिठाई, विभिन्‍न प्रकार के वड़ा पाव, फाफड़ा जलेबी, तंदूरी चाय और कई अन्‍य भारतीय स्‍ट्रीट फूड पेश किए।

केवल भारतीय व्‍यंजन ही नहीं, युवा वीडियो क्रिएटर्स ने लेबनानी शवरमा से लेकर नाइट्रोजन आइस-क्रीम के वीडियो के साथ इस धारणा को भी तोड़ने का प्रयास किया है कि भारत के पास वैश्विक व्‍यंजन नहीं हैं।

फेसबुक के डायरेक्‍टर और इंडिया जीएमएस के हेड, संदीप भूषण ने कहा, ‘इंस्‍टाग्राम विज़ुअल कम्यूनिकेशन, रचनात्‍मकता और स्‍टोरीटेलिंग के केंद्र में है औरसैमसंग के साथ हमने उनके युवा केंद्रित#IndiaReadyActionअभियान के लिए साझेदारी की, जो भारत से जुड़ी सांस्‍कृतिक रूढ़धारणाओं को बदलने का लक्ष्‍य रखता है। प्रतिष्ठित सैमसंग ओपेरा हाउस में लोगों के लिए कंटेंट वर्कशॉप से लेकर इंस्‍टाग्राम से जुड़े कुछ खास क्रिएटर्स की शक्ति का लाभ उठाने तक, इस अभियान ने रिकॉर्ड तरीके से कंटेंट हासिल किया है और इसके परिणामस्‍वरूप महत्‍वपूर्ण ब्रांड लाभ अर्जित किया है। सैमसंग की ब्रांड स्‍टोरी को एक अनूठे अंदाज में बताने के लिए हम उसके साथ भागीदारी कर बेहद प्रसन्‍न हैं।’

‘Entertainment’ थीम पर करीब 21 प्रतिशत वीडियो हमारे सामने आईं, जिन्‍होंने इस धारणा को तोड़ने की कोशिश की कि ‘भारत में मनोरंजन बॉलीवुड के इर्दगिर्द घूमता हैट’।दिल्‍ली में मंडी हाउस के थिएटर, रोमांचक नाइटलाइफ, फ्यूज़न और स्‍थानीय रॉक बैंड, गरबा, कालबेलिया आदि पर लोक नृत्‍य को दिखाने वाले वीडियो सामने आए। कई युवा भारतीयों ने, खासतौर से गैर-मेट्रो शहरों से,बैडमिंटन, फुटबॉल, टेबल टेनिस, घुड़सवारी, बॉक्सिंग, स्‍केटिंग, लगोरी और कबड्डी पर वीडियो बनाकर इस धारणा को तोड़ने की कोशिश की है कि ‘भारत में केवल क्रिकेट ही खेला जाता है’।

अभियान के दौरान, 31प्रतिशत वीडियो महिलाओं ने भेजे। ‘Culture’थीम के आसपास, महिलाओं ने यह धारणा बदलने की कोशिश की, कि भारतीय महिलाएं केवल साड़ी पहनती हैं और सिर्फ‘गृहिणी’हैं।

चेल इंडियाके चीफ क्रिएटिव ऑफिसर एमानुएल उप्पुटुरु ने कहा, “चेल में हम हमेशा युवाओं की नब्ज़को पकड़ में रखते हैं। #IndiaReadyAction अभियान ने उन्हें अपनी कल्पना दिखाने का मंच प्रदान किया है। हम इस सफलता से काफी खुश हैं। धारणाओं को तोड़ने के लिए उन्होंने जो वीडियो बनाएं हैं, उनमें से कुछ तो वास्तव में बहुत अदभुत हैं। हम आने वाले समय मेंकई अन्य तरीकों से इन युवाओं को और प्रेरित करने कीउम्मीद रखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here