रिजॉर्ट की हकीकत बताने पर रिसेप्शनिस्ट की हत्या, जानिए क्या है पूरा मामला

रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की मौत से जुड़े कई खुलासे लगातार सामने आ रहे हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो गई है पुलिस ने आरोपियों की कहानी और घटना से जुड़े कई साक्ष्य निकालकर इस बड़ी घटना का खुलासा हुआ। जिसके बाद आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया ।

उत्तराखंड के लगातार कई मामले सामने आ रहे हैं। अब एक रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की मौत से जुड़े कई खुलासे लगातार सामने आ रहे हैं। हालांकि आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो गई है जिसमे कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। बताया जा रहा है कि 18 सितंबर को यह पूरी वारदात हुई थी और इस दौरान पुलिस ने पूरी बारीकी से इस केस को समझते हुए इस पूरी हत्याकांड की गुत्थी को सुलझा दिया है।

दरअसल पुलिस ने भाजपा नेता विनोद आर्य के 35 साल के बेटे पुलकित आर्यभट्ट जो कि रिजॉर्ट का मालिक है और 19 साल के अंकित गुप्ता, सौरभ भास्कर 35 साल को थाने में ले जाकर पूछताछ की। इस दौरान कई चौकाने वाले खुलासे हुए है। तीनों ने हत्याकांड की झूठी कहानी बनाई लेकिन अब हकीकत सामने आ गई है क्योंकि कि तीनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। तीनों ने बताया कि 18 सितंबर की शाम को पुलकित और अंकिता के बीच में किसी बात को लेकर जमकर झगड़ा हुआ था और अंकिता काफी ज्यादा गुस्से में थी।

पुलकित ने कहा कि अंकिता गुस्से में है ऋषिकेश लेकर चलते हैं। जिस पर हम अलग-अलग गाड़ियों से निकले और अंकिता मेरे साथ मोटरसाइकिल पर बैठी थी। पुलकित और अंकित स्कूटी पर सवार थे। जब बैराज होते हुए एम्स पहुंचे तब वापसी में अंकिता को लेकर पुलिकत स्कूटी पर था। मैं और अंकित साथ में थे। लेकिन अंकिता को लेकर पुलकित आगे निकल गया था और अंधेरे में गाड़ी रोकी। सभी नहर के किनारे बैठकर शराब पी रहे थे। शराब पी कर मोमोज खाए। जिसके बाद अंकिता और पुलकित के बीच फिर किसी बात को लेकर विवाद हुआ। क्योंकि अंकिता अपने साथियों के बीच काफी ज्यादा बदनाम करती थी और हमारी आपकी बातें अपने साथियों को बता दी थी कि हम उससे कस्टमर से संबंध बनाने के लिए कहते हैं।

Must Read- शैलेश लोढ़ा ने असित मोदी पर साधा निशाना! बोले तुम्हारा लहजा बता रहा कि दौलत नई है…

इस पर पुलकित ने भी कहा कि “तू हमारे बीच की बाते अपने साथियों को बताती हैं जिस पर वह गुस्सा हो गई और अंकिता के साथ इस बात को लेकर हमारी झड़प हो गई। अंकिता ने कहां की “मैं तुम्हारे रिजॉर्ट की पूरी हकीकत सबको बताऊंगी”।अंकिता बहुत गुस्सा हो गई और हमारी उससे झड़प हो गई। अंकिता ने पुलकित का मोबाइल नहर में फेंक दिया। जिसके बाद तीनों को बहुत गुस्सा आया और हमने अंकिता के साथ गुस्से में हाथापाई की और उसे धक्का दे दिया। जिससे कि वह नहर में गिर गई। एक दो बार अंकिता नहर से ऊपर आकर चिल्लाई थी लेकिन उसके बाद वह डूब गई।

जिसके बाद आरोपियों ने इस पूरे घटनाक्रम की पूरी पलेनिंग के साथ कहानी बनाई। हालांकि पुलिस ने आरोपियों की कहानी और घटना से जुड़े कई साक्ष्य निकालकर इस बड़ी घटना का खुलासा हुआ। जिसके बाद आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया ।