लव मैरिज में हो रही हो समस्या तो ये ग्रह हैं उसका कारण, ऐसे करें उपाय

0
17
vastu shastra

आज के युग में लव मैरिज करना कोई नई बात तो नहीं हैं लेकिन आज कल हम देख रहे हैं कि कई कपल्स लव मैरिज करने के कुछ समय बाद ही आपसी तालमेल नहीं बना पाते हैं और नतीजन उसका असर उनके रिश्ते पर साफ देखा जा सकमा हैं। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं लेकिन जो खास कारण हैं वह हैं आपके ग्रहों की स्थिति। जी हां आपके ग्रहों की स्थिति आपके जीवन पर गहरा प्रभाव डालती हैं। आज हम आपको यहीं बताएंगे की कैसे आप इसके बूरे प्रभाव से बचा जा सकता हैं।

यह ग्रह होते है प्रेम विवाह के सफल ना होने का कारण

1- प्रेम विवाह के लिए कुंड़ली में चतुर्थ, पंचम और सप्तम भाव ज्यादा खास माना जाता हैं।

2- प्रेम विवाह में शुक्र और मंगल ग्रह की स्थिति भी बहुत महत्वपूर्ण होती है

3- यदि कुंड़ली में राहु की स्थिति सही ना हो तो प्रेम में धोखा मिलने की संभावना बढ़ जाती हैं। कुंडली के सातवें भाव या इसके स्वामी के साथ राहु का सम्बन्ध हो तो प्रेम विवाह में धोखा निश्चित होता है।

4- बुध ग्रह के कारण प्रेम भावनाओं से नहीं बल्कि बुद्धि से किया जाता हैं जिसका परिणाम होता है कि प्रेम विवाह में सफलता नहीं मिलती हैं।

5- कर्क, वृश्चिक और मीन राशि वाले लोगों को प्रेम में धोखा होने की संभावना ज्यादा होती है।

6- कुंडली में गुरु चांडाल के योग से भी प्रेम में धोखा होने की संभावना होती हैं।

7- जिनकी कुंडली में चन्द्रमा कमजोर हो उन्हें भी विवाह में धोखा मिल सकता है।

ग्रहों की बिगड़ी स्थिति का प्रेम विवाह पर हो रहे बूरे असर के लिए उपाय

1- ऐसे लोगों को रोजाना सुबह सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए।

2- रोजाना सुबह काल गायत्री मंत्र का जप करना ऐसे लोगों के लिए शुभ माना जाता हैं।

3- ग्रहों से प्रभावित जातकों को पूर्णिमा का उपवास रखना चाहिए।

4- आप चाहे तो सलाह लेकर पन्ना या पुखराज भी धारण कर सकते हैं।

5- कुंडली में राहु और शुक्र की स्थिति पर विचार कर ही विवाह करें।

6- प्रेम विवाह भी सही मुहूर्त में ही किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here