नई दिल्ली। आज यानि मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर बैठक बुलाई गई। इस बैठक में 29 मंत्रियों को बुलाया गया था। वहीं सूत्रों के मुताबिक यह बैठक संसद के मॉनसून सत्र में सरकार के काम-काज को लेकर बुलाई गई थी। सरकार की कोशिश यह है कि इस सत्र में सभी राज्यमंत्री अपने-अपने मंत्रालयों और विभागों से जुड़े संसद में पूछे जाने वाले मौखिक सवालों का जवाब दें। इन सवालों का जवाब किस तरह से देना है, इसकी मंत्रणा राजनाथ सिंह के आवास पर की गई।

आपको बता दें कि, रक्षा मंत्री के आवास पर हुई इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई दिग्गज मंत्री शामिल हुए। वहीं वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के इस दौर में गिरती अर्थव्यवस्था और वैक्सीन की धीमी रफ्तार को लेकर केंद्र सरकार पर विपक्ष काफी नाराज चल रहा है। ऐसे में केंद्र सरकार की तैयारी है कि संसद सत्र के दौरान मंत्री इतने तथ्यों और तर्कों के साथ तैयार हों कि वे अपने-अपने मंत्रालयों का बचाव कर ले जाएं। साथ ही मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर भी विपक्ष केंद्र को घेर सकती है।

गौरतलब है कि, संसद के मॉनसून सत्र की शुरुआत होने वाली है। जिसके चलते केंद्र सरकार कई बिलों को भी पास कराने की तैयारी में है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष भी तैयार है। विपक्ष का निशाना सरकार को मंहगाई, कोरोना की त्रासदी और विकास से संबंधित मुद्दों पर है। ऐसे में केंद्र सरकार इन्हें ध्यान में रखते हुए अपने मंत्रियों को तैयार कर रही है। संसद का मॉनसून सत्र की शुरुआत की बात की जाए तो आगामी सत्र 19 जुलाई से शुरू होगा। यह सत्र 19 जुलाई से लेकर 13 अगस्त तक चलेगा।

आपको बता दें कि, संसद के इस सत्र में केंद्र सरकार 23 नए विधेयकों को पास कराने की तैयारी में जुट गई है। सूत्रों के मुताबिक सत्र के दौरान 3 अध्यादेश और 17 नए विधेयक पेश किए जाएंगे। केंद्र सरकार संसद से 3 अध्यदेशों के जरिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेस्ट मैनेजमेंट बिल, सेंट्रल युनिवर्सिटी बिल, लिमिटेड लाइबिलिटी पार्टनरशिप बिल, कंटेनमेंट बिल, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फूड टेक्नोलॉजी जैसे बिलों को पास कराने की तैयारी में है।