पेट्रोल, डीजल के दामों से आम आदमी की जेब ढीली, जानें कितना कमाती है सरकार

petrol-diesel

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की महंगाई से आम आदमी की जेब ढीली पड़ गई है। वहीं बढ़ते दामों की वजह से सरकार से लगातार कीमतों में कटौती की गुहार लगाई जा रही है। गौरतलब है कि, इस महीने मोदी सरकार ने एक्साइज ड्यूटी में कटौती कर जनता को थोड़ी राहत दी है। लेकिन इतनी राहत काफी नहीं है। बता दें कि, देश के कई राज्यों में पेट्रोल अभी 100 रुपये लीटर से ऊपर बिक रहा है हालांकि लगभग सभी बीजेपी शासित राज्यों ने वैट (VAT) में कटौती कर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जनता को अतिरिक्त राहत दी है।

ALSO READ: बिकरू कांडः SC का सख्त आदेश, Vikas Dubey की पत्नी को सरेंडर करने को कहा

वहीं इसी कड़ी में आज यानी शीतकालीन सत्र के पहले दिन महंगे पेट्रोल और डीजल की गूंज संसद में सुनाई दी। दरअसल All India Trinamool Congress (AITC) की सांसद माला रॉय (Mala Roy) ने लोकसभा में सरकार ने पूछा कि पेट्रोल और डीजल पर सरकार को एक्साइज ड्यूटी के तौर पर कितनी कमाई होती है। इस सवाल के जवाब में वित्त मंत्रालय की ओर से कहा गया कि सरकार को पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क (Excise Duty) के रूप में 27.90 रुपये लीटर और डीजल पर प्रति लीटर 21.80 रुपये की आय होती है।

पेट्रोल (Petrol)- कुल 27.90 रुपये लीटर कमाई
Basic Excise Duty- 1.40 रुपये लीटर
Special Additional Excise Duty- 11 रुपये लीटर
अतिरिक्त उत्पाद शुल्क ((Road & Infra cess)- 13 रुपये लीटर
एग्रीकल्चर सेस- 2.50 रुपये लीटर

डीजल (Diesel)- 21.80 रुपये लीटर कमाई
Basic Excise Duty- 1.80 रुपये लीटर
Special Additional Excise Duty- 8 रुपये लीटर
अतिरिक्त उत्पाद शुल्क ((Road & Infra cess)- 8 रुपये लीटर
एग्रीकल्चर सेस- 4 रुपये लीटर