धारा 144 के बीच लगेगा ‘चिंतपूर्णी आश्विन नवरात्र मेला’, मंदिर में नहीं ले जा सकेंगे पूजन सामग्री

0
96
chintapurni_mata

Chintpurni Ashwin Navaratri Fair

चिंतपूर्णी धार्मिक स्थल चिंतपूर्णी आश्विन नवरात्र मेला 10 से 18 अक्तूबर तक चलेगा। छिन्नमस्तिका धाम में शुरू होने वाले नवरात्र मेलों के चलते मंदिर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। भरवाईं से चिंतपूर्णी तक मेला क्षेत्र को 3 सैक्टरों में बांटा गया है। मेले में 300 पुलिस कर्मचारी व गृह रक्षक तैनात किए जाएंगे। चिंतपूर्णी धार्मिक स्थल चिंतपूर्णी में आश्विन नवरात्रों में श्रद्धालुओं को सुविधाएं देने के बारें में यात्री निवास में एस.डी.एम. सुनील वर्मा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में एस.डी.एम. सुनील वर्मा मेला अधिकारी व डी.एस.पी. मनोज जम्वाल को पुलिस मेला अधिकारी नियुक्त किया गया। मेला अवधि के दौरान धारा-144 लागू रहेगी। ढोल-नगाड़े, स्पीकर व मंदिर में नारियल ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा।

श्री शैलपुत्री : नवरात्री में पूजनीय है प्रथम दुर्गा

Image result for चिंतपूर्णी आश्विन नवरात्र मेला
via

अतिरिक्त सेवादारों की नियुक्ति
मेला अधिकारी ने बताया कि मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 2 स्वास्थ्य कैंप लगाए जाएंगे। मेले में श्रद्धालुओं को पानी पिलाने व सफाई व्यवस्था के लिए मंदिर में अतिरिक्त सेवादारों की नियुक्ति की जाएगी। मेले में 300 पुलिस कर्मचारी व गृह रक्षक तैनात किए जाएंगे। मेले में चढ़ावे की गणना के लिए अतिरिक्त कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे। मेला अधिकारी ने बताया कि मेले से पहले भरवाईं से चिंतपूर्णी सड़क पर पैचवर्क करवाने के लिए पी.डब्ल्यू.डी. को आदेश जारी कर दिए हैं।

नवरात्री: एक ऐसा माता का मंदिर, जिसका आठवीं सदी मे हुआ है निर्माण

Image result for चिंतपूर्णी आश्विन नवरात्र मेला
via

सड़कों पर लंगर बांटने वालों पर सख्त कार्रवाई
मेले में केवल उन्हीं लंगर संस्थाओं को अनुमति दी जाएगी, जिनके पास आवश्यकता अनुसार जगह होगी। सड़कों पर लंगर बांटने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। लंगर संस्थान के स्थान का निरीक्षण करने के बाद ही लंगर लगाने की अनुमति दी जाएगी। 1 से 5 दिन तक लंगर लगाने वाली संस्था को प्रतिदिन 1,000 रुपए, वहीं 5 से अधिक दिनों तक लंगर लगाने वाली संस्थाओं को 12,000 रुपए जमा करवाने होंगे।

Image result for चिंतपूर्णी आश्विन नवरात्र मेला
via

श्रद्धालुओं को यहां मिलेगी दर्शन पर्ची
ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए बाहर से आने वाले बड़े वाहनों को भरवाईं पार्किंग में खड़ा करने की व्यवस्था की गई है। मेले में श्रद्धालुओं को दर्शन करने के लिए दर्शन पर्ची नई कार पार्किंग में ही दी जाएगी। पर्ची का मुख्य बाजार में भी निरीक्षण किया जाएगा। इस अवसर पर बैठक में डी.एस.पी. मनोज जम्वाल, मंदिर अधिकारी अवनीश शर्मा, एस.डी.ओ. राजकुमार जसवाल, प्रधान नारी विजय कुमार, प्रधान चिंतपूर्णी नरेन्द्र कालिया व एडीशनल एस.एच.ओ. जगवीर सिंह सहित विभिन्न विभागों के कर्मचारी उपस्थित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here