मध्यप्रदेश में आजकल कड़ाके की ठण्ड ने अपने पैर पसार लिए है, जिसके चलते धुप का नामोनिशां देखने को नहीं मिल रहा हैंइसी के साथ आप जल्द ही कड़ाके की ठंड झेलने के लिए तैयार रहें। गौरतलब है कि साल का अंतिम महीना चल रहा है और हर साल के अनुसार इस समय मौसम में तेज ठंड होनी चाहिए थी, लेकिन प्रदेश भर में इस समय बादल छाए हुए हैं। यही कारण है कि इस समय का मौसम मध्य प्रदेश में गुलाबी ठंड वाला और कोहरा दोनों एक साथ देखने को मिल रहा हैं है। ऐसे में लोग इसे काफी एंजॉय भी कर रहे हैं।

मौसम विभाग की माने तो दिसंबर महीने के आखिरी दिनों में मौसम में बदलाव संभव है। नए साल की एंट्री कड़कड़ाती सर्दी के साथ होगी यह संभावना है। ऐसे में अगर आप नए साल की पार्टी के बारे में भी प्लान कर रहे हैं तो आप ठंड का ध्यान रखते हुए प्लान करें और डेस्टिनेशन भी सर्दी के हिसाब से तय कर सकते हैं। झीलों के शहर मध्य प्रदेश में सर्दी का सितम शुरू हो चुका है। अचानक से पहाड़ों पर शुरू हुई बर्फबारी का असर राज्य में दिखने लगा है, प्रदेश में लगातार गिर रहे तापमान से ठंड का असर बढ़ता जा रहा है।

Also Read – पीएम नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन का 100 साल की उम्र में हुआ निधन, आज सुबह ली अंतिम सांस

बीते 10 वर्षों में सबसे ज्यादा गर्म रहा इस बार दिसंबर

गौरतलब है कि हिमालय में बर्फबारी और उत्तरी हवाएं चलने से मध्य प्रदेश में भी इसका असर हुआ है, दिन और रात के तापमान में हलकी गिरावट दर्ज की गई है, जिससे दिसंबर के महीने में पहली बार पारा नीचे आने से ठंड का एहसास हुआ। आपको बताएं 2013 के बाद इस बार का दिसंबर सबसे ज्यादा गर्म रहा। हालांकि, यह गर्मी अब सर्दी में बदल चुकी है लेकिन खुशी की बात यह जरूर है कि नए साल में खुशनुमा मौसम बना रहेगा, जिससे पर्यटक और युवाओं में खुशी की लहर दौड़ चली है नए वर्ष की पार्टी और घूमने को लेकर बनाए सभी प्लान में इस ठण्ड का लुत्फ़ उठाया जा रहा हैं.

जानिए नए साल में कैसा रहेगा मौसम का हाल

भोपाल: अधिकतम – 24 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम – 10 डिग्री सेल्सियस

इंदौर: अधिकतम – 26 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम – 11 डिग्री सेल्सियस

ग्वालियर: अधिकतम – 23 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम – 8 डिग्री सेल्सियस

जबलपुर: अधिकतम – 24 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम – 8 डिग्री सेल्सियस