मध्य प्रदेश (MP) सहित अब देशभर में बारिश की मौजूदगी धीमी पडने लगी है। इस मानसून में अबतक लगातार भीगने वाला मध्य प्रदेश अब बारिश से उभरने लगा है, वहीं देशभर के विभिन्न राज्यों के अलग-अलग स्थानों पर हो रही बारिश भी अब थमती दिखाई दे रही है। मौसम विभाग के द्वारा भी मध्य प्रदेश सहित देशभर से मानूसन की विदाई का संकेत दे चूका है, परन्तु इस महीने देशभर और खासकर के मध्य प्रदेश की बारिश को सर्वाधिक प्रभावित करने वाले कुछ नए वेदर सिस्टम्स अभी भी प्रदेश सहित देश के कुछ एक इलाकों में बारिश की हल्की से लेकर सामान्य गतिविधि को संचालित करेंगे।

Also Read-Live Darshan : कीजिए देशभर के प्रमुख मंदिरों के मंगला दर्शन

मध्य प्रदेश में अगले 24 घंटों के लिए मौसम विभाग का पूर्वानुमान

मध्य प्रदेश की बात करें तो आज प्रदेश के बुरहानपुर, खंडवा, धार, इंदौर, उज्जैन और देवास जिलों में कुछ एक इलाकों में सामान्य से लेकर कुछ तेज बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। इसके साथ ही सागर, भोपाल, रीवा संभागों के जिलों तथा खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर, मंदसौर जिलों में कहीं-कहीं सामान्य वर्षा या गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।नर्मदापुरम, शहडोल, जबलपुर आदि संभागों में भी आने वाले 24 घंटों में सामान्य से कुछ तेज बारिश का अनुमान है।

Also Read-Navratri 2022: बिहार का ऐसा मंदिर जहाँ नवरात्रि में महिलाओं का प्रवेश वर्जित, जानिए क्या है वजह 

देश के अन्य राज्यों के मौसम का हाल

उत्तर प्रदेश में इस वर्ष देर से शुरू हुई बारिश ने भी अब विदाई के संकेत दे दिए हैं, बीते सप्ताह उत्तरप्रदेश में अच्छी खासी बारिश दर्ज की गई, जोकि सावन और भादों जैसे वर्षप्रधान महीनों में भी नहीं हुई थी, लेकिन प्रदेश में हो रही ये बारिश भी अब थमती दिखाई दे रही है। उत्तर प्रदेश में अबतक हुई बारिश सामान्य से बहुत ही कम है। आने वाले 24 घंटों में जहाँ प्रदेश की राजधानी लखनऊ का मौसम साफ़ और आसमान खुला रहेगा, वहीं अन्य जिलों की बात करें तो इलाहाबाद और वाराणसी में दोपहर के बाद हल्के बादल आसमान में देखे जा सकते हैं और साथ ही प्रदेश में कुछ एक इलाकों में हल्की बून्दाबान्दी नजर आ सकती है।

आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में है तेज बारिश की संभावना

IMD के अनुसार आने वाले 3 दिनों में आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में तेज बारिश की संभावना बन रही है। इन प्रदेशों के मौसम को मध्य्प्रदेश की तरह ही नए वेदर सिस्टम्स का प्रभाव सर्वाधिक देखने को मिला है और इस वर्ष सामान्य से कुछ अधिक बारिश इन प्रदेशों में अबतक दर्ज की गई है। आने वाले दिनों में बारिश का आंकड़ा इन प्रदेशों में और भी ज्यादा ऊपर जा सकता है।

उत्तराखंड में भी होगी तेज बारिश

देश के पर्वतीय राज्य और देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध उत्तराखंड में इस बार बारिश के मौसम में जहां आसमान से आफत बरसी वहीं भूस्खलन के रूप में घरती का कोप भी इस राज्य को देश में सर्वाधिक झेलना पड़ा। राज्य के पिथौरागड़ और टिहरी, गढ़वाल आदि इलाकों में सबसे ज्यादा भू स्खलन की घटना दर्ज की गईं, जिससे सामान्य जनजीवन के साथ ही यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। आने वाले 24 घंटों में जहां प्रदेश में कुछ एक इलाकों में तेज बारिश दर्ज की जा सकती है, वहीं भू स्खलन की घटनाओं की संभावना से मौसम विभाग इंकार कर रहा है।