उज्जैन। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को मक्सी रोड स्थित कानीपुरा में नगर पालिक निगम द्वारा निर्मित की गई प्रधानमंत्री आवास योजना के एएचपी घटक (भागीदारी में किफायती आवास) के अन्तर्गत मल्टी में निर्मित 152 ईडब्ल्यूएस आवासीय इकाईयों के गृह प्रवेश कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री के मुख्य आतिथ्य में हितग्राहियों को फीता काटकर गृह प्रवेश कराया गया और आवास की चाबी सौंपी गई। उल्लेखनीय है कि नवनिर्मित तीन मल्टी में 152 आवास बनाये गये हैं। इनमें से 146 आवासों में हितग्राहियों का गृह प्रवेश मंगलवार को कराया गया। इसके पूर्व मंगल गीत गाये गये।

मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर भगवान गणेश का पूजन-अर्चन किया और हितग्राही को गृह प्रवेश कराया। इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, विधायक पारस जैन, विधायक बहादुरसिंह चौहान, सांसद अनिल फिरोजिया, पूर्व सांसद प्रो.चिन्तामणि मालवीय, जिला पंचायत अध्यक्ष कमला कुंवर, उपाध्यक्ष शिवानी कुंवर, महापौर मुकेश टटवाल, नगर निगम अध्यक्ष कलावती यादव, मध्यप्रदेश फ़ार्मेसी काउंसिल के अध्यक्ष ओम जैन, बहादुरसिंह बोरमुंडला, विवेक जोशी, विशाल राजौरिया, जगदीश अग्रवाल, पार्षदगण, कलेक्टर आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, नगर निगम आयुक्त रोशन कुमार सिंह एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर कहा कि बड़ी खुशी की बात है कि आज हमारे भाई-बहनों को रहने के लिये आवास की सौगात मिली है। हमारी सरकार का यह संकल्प है कि मध्य प्रदेश की धरती पर किसी भी गरीब को बिना छत के नहीं रहने देंगे। आज मल्टी में बनाये गये सुन्दर आवास पर हितग्राहियों का अधिकार होगा। हमने लगभग 40 एकड़ जमीन भू-माफियाओं के कब्जे से छुड़ाई है। इन जमीनों पर आवासहीनों के लिये घर बनाये जायेंगे। असामाजिक तत्वों और भू-माफियाओं, गुंडे-बदमाशों को छोड़ा नहीं जायेगा। उनके घर पर बुलडोजर चलाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नीलगंगा स्थित कवेलु कारखाने की जमीन पर भी गरीबों के लिये आवास शीघ्र ही बनाकर दिये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों का भी यह सपना होता है कि उनका भी बड़ा न सही एक छोटा-सा घर हो। उनके इस सपने को पूरा करने के लिये सरकार हमेशा उनके साथ है। ग्रामीण क्षेत्रों में भूखण्ड और शहरी क्षेत्रों में मल्टी में पात्र हितग्राहियों को आवास बनाकर दिये जायेंगे। रोटी, कपड़ा, मकान, इलाज का खर्च, गरीबों के बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिये फीस सरकार मुहैया करायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब वर्ग के लोगों को प्रति परिवार 10 किलो अनाज नि:शुल्क दिया जा रहा है। हर घर में नल जल योजना के तहत शुद्ध पेयजल पहुंचायेंगे। गरीब के मेधावी बच्चों की शिक्षा और उच्च शिक्षा का पूरा खर्च सरकार उठायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजीविका मिशन की महिलाओं को भी अलग-अलग रोजगार के अवसर प्रदाय किये जायेंगे। गरीब वर्ग की सभी मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने का काम सरकार द्वारा निरन्तर किया जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान ने उज्जैन के शहीद जवान जितेंद्रसिंह चौहान के माता-पिता को मंच से सम्मानित किया। इसके पश्चात उनके द्वारा तीन हितग्राहियों को मंच से सांकेतिक रूप से आवास की चाबी सौंपी गई।

Also Read : Optical Illusion : तस्वीर में छिपी मछली को ढूंढे 15 सेकंड में, मानें जाएंगे जीनियस

कार्यक्रम में स्वागत भाषण महापौर मुकेश टटवाल ने दिया। उन्होंने कहा कि हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिये निरन्तर कार्य किये जा रहे हैं। इसी कड़ी में आज हितग्राहियों को रहने के लिये आवास मिल रहे हैं। हम सबके लिये यह बड़े हर्ष का दिन है। दीनदयाल रसोई योजना के तहत भगवान महाकालेश्वर का भोग प्रसाद नि:शुल्क लोगों को वितरित किया जा रहा है। आगे भी शहर के विकास के लिये निरन्तर कार्य किये जायेंगे और सौगातें आम जनता को प्रदान की जायेंगी। कार्यक्रम का संचालन सत्यनारायण चौहान ने किया और आभार प्रदर्शन कलावती यादव द्वारा किया गया।