जानलेवा वायरस के डर से करोड़ों लोग घरों में कैद, तीन शहरों में इमरजेंसी

0
116
Virus

नई दिल्ली। चीन में कोरोना वायरस तेजी से फैलने के कारण हाहाकार मच गया है। हुबेई प्रांत के तीन शहरों में इस खतरनाक वायरस से 18 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 571 लोग गंभीर रूप से बीमार हैं। वायरस के कारण चीन के तीन शहरों में आपातकाल जैसी स्थिति बन गई है।

वायरस को और अधिक फैलने से रोकने के लिए सरकार वुहान, हुआंग्गांग और इजोऊ में सिटी बसों सहित सार्वजनिक यातायात के सभी साधन, सब-वे, नाव, ट्रेन और हवाई जहाज सेवाएं बंद कर दी गई हैं। वहीं लोगों को चेतावनी दी है कि बिना महत्वपूर्ण वजह बताए शहर न छोड़ें। यदि ऐसा किया तो सजा दी जाएगी। इस पाबंदी से तीनों शहरों के करीब दो करोड़ लोग घरों में कैद हो गए हैें।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में इस वायरस को रोकने के लिए प्रयास शुरू हो गए हैं। अब तक अज्ञात रहे इस वायरस को किसी जंगली जीव या उसके मांस से मानवों में फैलने की आशंका भी जताई गई है। सरकार ने चेतावनी जारी करते हुए लोगों से मास्क पहनने की सलाह दी है। वहीं सरकारी कर्मचारियों व सुरक्षा कार्यों में लगे लोगों को भी सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने के लिए कहा गया है।

वुहान ट्रांसपोर्ट हब, हनकोऊ रेलवे स्टेशन आदि बंदकर दिए गए हैं। हमेशा भीड़ से भरे रहने वाले यह स्थान सूनसान हो चुके हैं। रोक का पालन करवाने के लिए राजमार्गों पर सुरक्षा बलों को लगा दिया गया है। चीन में शुक्रवार से ‘चंद्र नव वर्ष’ त्योहार शुरू हो रहा है, और इनकी छुट्टियां चल रही हैं। इस दौरान देश भर से करोड़ों लोग अपने घर व सैर-सपाटे वाली जगहों पर आते-जाते हैं। नई रोक से वे भी प्रभावित होंगे।

वुहान के पर्यटन अधिकारियों ने सभी क्षेत्रीय एजेंसियों को 22 जनवरी से आठ फरवरी तक सभी तरह के पर्यटन पर रोक लगाने के लिए कहा है। विदेशों से आ रहे सभी ग्रुप टूर भी 30 जनवरी तक रद कर दिए गए हैं, पैसा लौटाने को कहा गया है। पांच सितारा होटलों को चेताया गया है कि वे आठ फरवरी तक अपने सभी आयोजन रद कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here