अदभुत समागम, बचपन की अनगिनत स्मृतिंया, भावुक वतावरण, दिल खोलकर मुस्कुराते हजारों चेहरे, खुशियों का अभूतपूर्व अहसास लिये हुए मल्हार आश्रम इंदौर के शताब्दी वर्ष समारोह के वे अवस्मर्णीय क्षण थे, जहाँ बोर्डिंग स्कूल की पुरानी यादों (जैसे कि- बचपन में परिवार से दूर बोर्डिंग मे बीमार हो जाने पर बालसखाओ द्वारा परिजनों की भातिं डॉक्टर के पास ले जाकर इलाज करवाने से लेकर अपने साथी मित्र के लिए मेस से खाना लाने जैसी असीमित दास्तानों) से सराबोर माहौल दो दिन के लिए बना हुआ था,

जिसमें देश- विदेश से आये हुए 1946 से 2022 तक के लगभग 3000 पूर्व छात्र छात्राएं अपने अपने सहपाठीयों, सीनियर एवं जुनीयर्स के साथ अपने बचपन की सुखद यादों के साथ आनंदित हो रहे थे और मस्ती में झूम रहे थे, जैसे मानों बाल्य जीवन की कहानी ” एक बार फिर से जी जारही हो।”

सहसा ही ये एहसास कराते हैं कि मालवा की इस पावन धरा “मल्हार आश्रम” पर, देश और दुनिया के कई ख्याति प्राप्त कर्मयोगी अपना अपना बचपन, अनुशासन के साथ जी चुके हैं। इसी कड़ी में यह कार्यक्रम पूर्व छात्रों या यूँ कहें मल्हारियंस के द्वारा “ओल्ड बॉयज़ एसोसिएशन” के तत्वावधान में सफलता पूर्वक आयोजित किया गया।

Also Read – नए साल में पार्टी करने वाले हो जाएं सावधान! इन लोगों को देखते ही पकड़ेगी पुलिस, हवालात में बिताना पड़ सकती है रात

जिसमें अपने अपने क्षेत्रों में उच्च कीर्तिमान गढ़ने वाले कई पूर्व छात्र छात्राओं ने अपना रूचिकर समय (December End) निकाल कर हिस्सा लिया। यह बात मानव द्वारा, खासकर गुरुकुल अथवा बोर्डिंग मे रह कर शिक्षा प्राप्त करने वाले व्यक्तियों द्वारा अपने गुरुकुल के प्रति प्रेम और समर्पण के भाव को सर्वोच्च प्राथमिकता देने वाली सिद्ध होती हैं।

समारोह में 2010 के बाद के स्टूडेंट्स के द्वारा व अन्य कलाकारों द्वारा रंगा रंग प्रस्तुतियां दी गई व शिक्षक सम्मान भी किया गया। विशेष सत्र में सुभाष गोरे द्वारा मल्हार आश्रम पर बनाई गई फिल्म भी दिखाई गई जिसे इंदौर के बीचोबीच स्थित मल्हार आश्रम के 36 एकड़ के इसी कैम्पस मे फिल्माया गया।

इंदौर के इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में पूर्व छात्र के रूप में, मानव जीवन का सर्वश्रेष्ठ पथ प्रदर्शक काव्य पाठ डॉ. सत्यनारायण जटिया जी ( पूर्व केंद्रीय मंत्री भारत सरकार)द्वारा किया गया।
मुख्य नीतिगत संरक्षक की भूमिका में वृहद मार्गदर्शन कुं. विजय शाह जी (वन मंत्री म. प्र. शासन) द्वारा दिया गया। तत् पश्चात जीतू पटवारी जी (पूर्व मंत्री म. प्र.शासन) द्वारा संस्मरणों के साथ भावुक अभिवादन किया गया।

साथ ही मंच पर शक्ति पम्प्स के एम डी दिनेश पाटीदार, सोलर गांधी के नाम से पहचाने जाने वाले आई आई टी मुंबई के प्रोफेसर चेतन सोलंकी, वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक कुटुंबले, रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल बी एस सिसोदिया, विधायक कुं संजय शाह मकड़ाई, विधायक सचिन बिरला, पूर्व विधायक आत्माराम पटेल, सत्य नारायण पटेल, दिनेश मल्हार की उपस्थिति भी शोभायमान रही।

मल्हार आश्रम के आगामी विकास ( सी एम राइस लेवल 7) की रूप रेखा एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह नरुका, सचिव प्रमोद मुखिया एवं पूर्व अन्तरराष्ट्रीय बास्केटबाल खिलाडी विकास शर्मा द्वारा प्रस्तुत की गयी। कार्यक्रम में क्रमशः संगठन के नये नामकरण का प्रस्ताव कोषाध्यक्ष मुकेश उपाध्याय द्वारा। आगामी कार्यक्रम की भूमिका इंदौर के प्रसिद्ध सर्जन डॉ. रवि वर्मा द्वारा।
भूमि संरक्षण राधे जाट द्वारा। प्रतिबद्धता प्रस्ताव डॉ. विश्वास व्यास द्वारा।

Also Read – MP Weather: नए साल के साथ होगा कड़ाके की ठण्ड का आगाज, जानिए कैसा रहेगा मध्यप्रदेश में मौसम का हाल

पूर्व छात्र संगठन द्वारा प्रति वर्ष मेरिट मे आने वाले छात्र छात्राओं को “मल्हार रत्न अवार्ड” देने का प्रस्ताव भोपाल के मेक्सिलो फेशियल सर्जन डा. जितेंद्र कुमार जाट द्वारा रखा गया। इन सभी प्रस्तावों को उपस्थित लगभग 3000 पूर्व छात्रों ने अनुमोदित किया। तत्पश्चात् मल्हार आश्रम से एम्स मे चयनित छात्रों का सम्मान किया गया। मंच संचालन विजय झाला एवं विनोद जायसवाल द्वारा किया गया।

कार्यक्रम के आयोजन में पंकज रघुवंशी, देवेंद्र पाटीदार, EOW SP धनंजय शाह, राजू जैन बीना,  प्रशांत शर्मा,  राजकुमार ठाकुर,  विजय शंकर शर्मा,  जगदीश पाटीदार, असलम पटेल,  गुरुचरण सिंह पाल, डॉ. बनवट, ज्ञान चंद्र फफरिया, बलराम विश्नोई, केतन शाह,  शांति लाल झाला, कन्हैया लाल सोमतरा, डॉ. देवेंद्र शर्मा, बृजेश चतुर्वेदी, जितेंद्र सिंह संधू, चंद्र शेखर मालवीय, एडवोकेट जितेंद्र पाटिदार,  अंतर सिंह मल्हार, बलराम पटेल, अशोक छलोत्रे, जसदेव सिंह संधू,  नीरज राठौर, अनिल शर्मा, अतुल त्रिवेदी, डॉ. सी. पी. नाहर, नरेंद्र नेगी,  अजय ठाकुर, विजय सिंह लोधी, मंजीत सिंह सोलंकी,  लीलाधर परमार, प्रमोद परमार,  कुंदन सिंह बैंस, राकेश बरफा,  विनोद चौरसिया,  दीपक परमार, सत्येंद्र परमार, डॉ. प्रशांत चौधरी, डॉ. अरविंद खोदरे, डॉ. प्रफुल्ल पटेल, डॉ जसवंत बंबोरिया, डॉ. हेमंत जाट,  हितेश निनामा,  विजेंद्र यादव, अवधेश यादव,  कमल पाटिदार, सूरज विश्नोई, अखिलेश विश्नोई, डॉ. भूपेंद्र वास्केल,  सिद्धार्थ पाटीदार, चंद्र मोहन जाट,  नीरज परमार, डॉ. विजय जाट,  दिलीप पटेल,  मनोज पाटिल, नरेंद्र मुकाति, इस्तियाक खान एवं संगीत राठौर, हनुमंत राठौर, कपिल पटेल, दिनेश चौहान की विशेष भूमिका रही।