Indore: मुंबई एवं बैंगलोर के वित्तीय विशेषज्ञों द्वारा वित्तीय प्रबंधन विषय पर कार्यशाला का किया गया आयोजन

मुंबई व बैंगलोर से आई वित्तीय विषय की विशेषज्ञों ने महिला पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिये वित्तीय प्रबंधन विषय पर आयोजित कार्यशाला में निवेश जरुरत नही, बल्कि एक अनुशासन है गुरूमंत्र दिया गया।

इंदौर। महिला पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सक्षम एवं सशक्त बनाने के उद्देश्य से पुलिस मुख्यालय भोपाल द्वारा वर्टिकल इन्टरेक्टिव वर्कशॉप-उड़ान के तहत महिला पुलिस कर्मियों की दक्षता बढ़ाने हेतु विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया है। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र एवं अति. पुलिस आयुक्त अपराध एवं मुख्यालय राजेश हिंगणकर के दिशा निर्देशाुनसार इंदौर पुलिस द्वारा समय-समय पर विभिन्न सेमिनार एवं कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

इसी कड़ी में पुलिस उपायुक्त (अपराध/मुख्यालय) निमिष अग्रवाल के मार्गदर्शन में महिला पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिये वित्तीय प्रबंधन विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन दिनांक 22.09.22 को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में किया गया।

इस कार्यशाला में अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय मनीषा पाठक सोनी, भारत की बेटी फाउंडेशन की संस्थापिका सुरभि चौधरी, माय सॉल्ट की ओर से चैत्रा चिदानंद व निधी सचदेव ने विभिन्न थानों एवं कार्यलयों व महिला थानों से आई महिला पुलिस कर्मियों को वित्तीय प्रबंधन सिखाने हेतु पैसा बचाओ, पैसा बढ़ाओ विषय पर आयोजित कार्यशाला में व्याख्यान देकर सभी को निवेश के विभिन्न तरीके बताएं।

उक्त कार्यशाला में भारत की बेटी फाउंडेशन और मुंबई व बैंगलोर से आई माय सॉल्ट की टीम ने महिला पुलिस कर्मियों को व्यक्तिगत निवेश के संबंध में प्रशिक्षण देते हुए महिलाएं परिवार के अतिरिक्त स्वंय भी व्यक्तिगत वित्त नियोजन कर सके, पैसा केवल बचा नही बढ़ा भी सके। इसको मद्देनजर रख कर कई वित्तीय उत्पाद जिनसे वित्तीय नियोजन करा जा सकता है उसके बारे में विस्तृत रूप से बताया गया और सभी को कहा कि निवेश जरुरत नही बल्कि अनुशासन है।

 

सुरभि चौधरी ने कहा कि इंदौर शहर का ख्याल रखने वाली महिला पुलिसकर्मी अपने वित्तीय नियोजन के लिए समय नहीं निकाल पाती है, इसको मद्देनजर रख कर इस कार्यशाला का आयोजन किया गया है और हम आपकी वित्तीय समस्याओं के समाधान के लिये आप के बीच आए है।

चैत्रा एवं निधि ने महिलाओं के लिए वित्तीय नियोजन विषय से सभी को वाकिफ़ कराया और बढ़ती हुई महंगाई और भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए निवेश के विभिन्न विकल्पों बीमा, एसआईपी, एफडी, म्युचुअल फंड्स, डिजिटल गोल्ड आदि के बारें में जानकारियां दी। उन्होंनें फाइनेंशियल प्रोजेक्शन जिसके द्वारा आप अपने निवेश की भविष्य में होने वाली बढ़ोत्तरी के बारे में आज जान सकते है और फाइनेंशियल प्रोटेक्शन यानी पैसे के हमारे जीवनशैली को बनाए रखने के महत्व के बारे में बताया।

मनीषा पाठक पुलिसकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा हमारें भविष्य की जरूरतों को देखते हुए वर्तमान समय में पैसा बचाना एक जरुरत ही नही बल्कि एक अनुशासन है और हम पुलिस के अनुशासित बेड़े में आते है तो यदि हम ठान ले तो निश्चित ही अनुशासित रूप से निवेश करते हुए हमारे पैसों के पेड़ को दिनों दिन बढ़ा कर सकते है। उन्होंने सभी को रिटायरमेंट के बाद भी आप आर्थिक रूप से सक्षम रहें इसके लिये पेंशन प्लानिंग भी महत्वपूर्ण है, उसके बारें में भी आवश्यक रूप से प्लानिंग करें।

Also Read: Indore: राशन माफियाओं के खिलाफ क्राइम ब्रांच इंदौर एवं खाद्य विभाग ने की छापेमारी, लाखों रुपये कीमत का अनाज किया जब्त

कार्यक्रम में ममता बाकलीवाल, श्वेता गर्ग, प्रवीण खारीवाल, रचना जौहरी, अनुपमा बोथरा, सुरुचि मल्होत्रा और सुप्रिया मदान ने प्रमुखता से भाग लेकर सभी का मनोबल बढ़ाया। कार्यक्रम का सफल संचालन सुरभि चौधरी ने किया एवं इंदौर पुलिस की ओर से मैनेजमेंट टीम निरीक्षक राधा जामौद, उपनिरीक्षक शिवम ठक्कर एवं सउनि गयेंद्र यादव द्वारा विशेष सहयोग प्रदान किया गया। इस अवसर पर भारत की बेटी फाउंडेशन के सर्वाइकल कैंसर अवेयरनेस प्रोग्राम में ट्रेनिंग देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली डॉ. सोनम बक्शी को सम्मानित भी किया गया।