Indore: पति को आत्महत्या के लिए उकसाने वाली पत्नी प्रेमी संग पकड़ाई

इंदौर : शहर में दिनांक 14.04.2019 को थाने पर सूचना प्राप्त हुई कि पंचम की फेल इन्दौर का रहने वाले पवन पिता जगदीश रेसवाल उम्र 35 वर्ष पता 914 पंचम की फेल इन्दौर ने फांसी लगाकर आत्महत्या की , जिसने अपने सुसाइट नोट मे उसकी मृत्यु के जिम्मेदार उसकी पत्नि पिंकी रेसवाल व उसके प्रेमी जीवन यादव का होना बताया जिनके द्धारा मृतक को प्रताडित किया जिससे मृतक ने फांसी लगाकर आत्महत्या की । मर्ग जांच पर से थाना तुकोगंज मे अपराध क्रमांक 265/2019 धारा 306-34 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया जाकर आरोपीगणो की तलाश शुरु की गयी जो घटना वक्त से फरार थे ।

ऐसे गंभीर प्रकरणो में पुलिस आयुक्त इन्दौर महानगर श्री हरिनारायणचारी मिश्र व अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्री मनीष कपूरिया द्धारा पुलिस उपायुक्त जोन – 3 इन्दौर महानगर महोदय श्री धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया को निर्देशित किया गया था, जिसके पालन मे अति.पुलिस उपायुक्त महोदय, जोन-3 जिला इन्दौर श्री शशिकान्त कनकने एवं सहायक पुलिस आयुक्त श्री हरीश मोटवानी को कार्य योजना तैयार करने हेतु निर्देशित किया था जिनके द्वारा थाना प्रभारी तुकोगंज निरीक्षक कमलेश शर्मा को कार्य योजना पर अमल देने हेतु समझाया गया था

उक्त निर्देशो का पालन करते हुए थाना प्रभारी तुकोगंज निरीक्षक कमलेश शर्मा द्वारा पुलिस टीम का गठन किया जाकर आरोपीगणो की शहर के संभावित स्थानो पर प्रकरण के फरार आरोपी पिंकी रेसवाल व जीनव यादव की तलाश शुरु की गयी।

काफी प्रयासो के उपरांत आज दिनांक 07.01.2022 को उक्त दोनो आरोपीगणो को पकडा गया, जिनसे नाम पता पूछने पर अपना पिंकी रेसवाल उर्फ पिंकी यादव पति जीवन यादव उम्र 29 वर्ष पता शुभम पैलेस छोटा बांगडदा इन्दौर व जीवन यादव उर्फ रामसजीवन यादव पिता श्यामलाल यादव उम्र 34 वर्ष पता शुभम पैलेस छोटा बांगडदा इन्दौर का होना बताया। पूछताछ के दौरान उन्होने बताया कि घटना के बाद से दोनो ने शादी करके अपनी मौजूदगी छिपाने के लिये शहर के अलग-अलग स्थानो पर रहने लगे। दोनो से पूछताछ के दौरान उक्त आरोपीगणो द्धारा अपना अपराध करना स्वीकार किया जिन्हे विधिवत गिरफ्तार किया जाकर न्यायालय पेश किया गया।

उक्त सराहनीय कार्य मे निरीक्षक कमलेश शर्मा, थाना प्रभारी तुकोगंज व उनकी टीम के सउनि भंवरलाल सेरोके, प्रधान आरक्षक 1500 लोकेश गाथे ,प्रधान आरक्षक 1221 किशोर सांवलिया व महिला आरक्षक 3399 राजू मेढा की अहम भूमिका रही है ।