HomeदेशIndore: नदी को प्रदूषित करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही, 4 फैक्ट्री...

Indore: नदी को प्रदूषित करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही, 4 फैक्ट्री में प्रोडक्शन बंद

इंदौर दिनांक 22 दिसम्बर 2021। कलेक्टर श्री मनीष सिंह व आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल द्वारा कान्ह नदी में फैक्ट्रीयों, कारखानो का प्रदूषित व गंदा पानी मिलाने पर ऐसी फैक्ट्रीयों व कारखानो पर कडी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये थे। उक्त कार्यवाही के तहत मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जिला प्रशासन व निगम प्रशासन द्वारा संयुक्त कार्यवाही की जा रही है। कान्ह नदी में गंदा पानी मिलाया जाने पर कान्ह नदी प्रदूषित होती है तथा गंदा पानी आगे भी जाकर क्षिप्रा को भी प्रदुषित कर रहा है।

ALSO READ: बेकाबू हो रहा Omicron, देश में 5 दिन में दोगुने हुए केस


आज जिला व निगम प्रशासन तथा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा सांवेर रोड क्षेत्र में फैक्ट्रीयों का गंदा व प्रदूषित पानी कान्ह नदी में मिलाने पर मेसर्स जीएनएस इंण्डस्टीज संचालक कपीलेश रमनानी प्लॉट नंबर 9 सी/1 सेक्टर ई औद्योगिक क्षेत्र सांवेर रोड के विरूद्ध कडी कार्यवाही करते हुए, फैक्टी सील करने की कार्यवाही की गई। इसके साथ ही मेसर्स जयश्री सालासर इण्डस्टीज संचालक गणेश विजवर्गीय प्लॉट नंबर 21 अपोजिट अंवतिका गैस पॉइन्ट सांवेर रोड, मेसर्स जीआरवी बिस्किटस प्रायवेट लिमिटेड संचालक मनवे सिंह ग्रेवाल सर्वे नंबर 39/1/1 एंण्ड 39/1/2 सेक्टर ई ओद्योगिक क्षेत्र सांवेर रोड, मेसर्स कुंदन इण्टरप्राइजेस संचालक रवि जादम प्लॉट नंबर 41 एस सेक्टर एफ सांवेर रोड इंदौर, मेसर्स एस एण्ड श्रीफल कन्फेक्शनर प्रायवेट लिमिटेड संचालक नीरज वाधवानी प्लॉट नंबर 24 बी सेक्टर ई औद्योगिक क्षेत्र सांवेर रोड इंदौर के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए, फैक्टी में कार्यरत सभी मजदूरो को फैक्टी से बाहर किया गया तथा प्रोडक्शन रूकवा दिया गया है साथ ही चारो फैक्टी के विद्युत कनेक्शन भी काट दिये गये है।

इन्हे समझाईश दी गई है कि मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार दूषित जल के उपचार हेतु उपयुक्त व्यवस्था करे तथा उनके नॉर्म्स तथा कलेक्टर महोदय द्वारा धारा 144 के अंतर्गत कान्ह नदी में इंदौर जिले की सीमा अंतर्गत बहने वाले पानी की गुणवत्ता के संबंध में जो निर्देश दिये गये है, उनका पालन करने पर ही चारो फैक्ट्रीयों में प्रोडक्शन प्रारंभ करने व विद्युत सप्लाय शुरू करने की अनुमति दी जावेगी। कार्यवाही के दौरान मध्य प्रदेश प्रदूषण बोर्ड के अधिकारी, क्षेत्रीय एसडीएम, तहसीलदार, उपायुक्त श्रीमती लता अग्रवाल, रिमूव्हल विभाग के श्री बबलू कल्याणे व अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular