गुम हुई नाबालिग लड़की को Indore Police ने 6 घंटे में ढूंढ निकाला

इन्दौैर शहर के पुलिस थाना तुकोगंज(Indore Police) अंतर्गत गुम हुई नाबालिग लड़की(missing minor girl) को तुकोगंज पुलिस इन्दौर(Tukoganj Police Indore) ने अथक प्रयास से महज 6 घंटे के अंदर तलाश कर परिवार जनों के सुपुर्द किया।

Indore Police
Indore Police

इन्दौैर शहर के पुलिस थाना तुकोगंज(Indore Police) अंतर्गत गुम हुई नाबालिग लड़की(missing minor girl) को तुकोगंज पुलिस इन्दौर(Tukoganj Police Indore) ने अथक प्रयास से महज 6 घंटे के अंदर तलाश कर परिवार जनों के सुपुर्द किया।

गुरूवार शाम 06.30 बजे फरियादी उमेश सिंह चौहान पिता बाबूसिंह चौहान निवासी 52 न्यू देवास रोड वल्लभ नगर इन्दौर ने थाने पर सूचना दी थी कि उसकी 13 वर्ष की नाबालिग पोती दीपाली चौहान(13 year old minor granddaughter Deepali Chauhan) घर के बाहर खेलते खेलते कही गुम हो गयी है। उन्हे शंका है कि उनकी पोती को कोई अज्ञात बदमाश बहला फुंसलाकर अपने साथ ले गया है। फरियादी की सूचना पर थाना तुकोगंज मे अपराध क्रमांक 94/2022 धारा 363 भादवि का प्रकरण दर्ज किया गया। थाना प्रभारी तुकोगंज निरीक्षक कमलेश शर्मा प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए तत्परता से अपनी टीम के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और घटना स्थल के आसपास के लोगों से पूछताछ कर सीसीटीवी कैमरा देखना शुरू किए।

अति.पुलिस उपायुक्त महोदय, राजेश रघुवंशी तथा सहायक पुलिस आयुक्त हरीश मोटवानी भी मौके पर आये जिन्होने थाना प्रभारी तुकोगंज निरीक्षक कमलेश शर्मा को निर्देशित किया जो निरीक्षक कमलेश द्धारा अलग-अलग टीम बनाकर एक टीम को मालवा से पाटनीपुरा की तरफ, एक टीम को मालवा मील से जंजीरवाला चौराहा की तरफ, एक टीम को मालवा मील से वाईन शाप के पास वाली गली, परदेशीपुरा की तरफ, तथा एक टीम को लेन्टर्न चौराहा की तरफ जाने वालो रास्तो तथा निजी आवास, व्यवसायिक बिल्डिंग आदि मे लगे सभी सीसीटीवी कैमरे देखने हेतु तथा सतत निगरानी कर लोगो से पूछताछ शुरु करने हेतु लगाया गया।

must read: हिजाब तो एक बहाना है ! निशाने पर कुछ और है?

तभी एक टीम को उक्त गुम बालिका भारत स्टूडियो के कैमरे में मालवा मील की तरफ जाती दिखी, उसके बाद पास मे स्थित मौका बार रेस्टोरेन्ट मे लगे कैमरे में उक्त बालिका एक ऑटो रिक्शा पर बैठकर जाती दिखी। उक्त ऑटो रिक्शा का नंबर सभी कमरों में देखने पर नहीं मिला, किंतु ऑटो रिक्शा के पीछे की तरफ गंगा बिहार कॉलोनी का बैनर लगा दिखाई दे रहा था, जो टीम के प्रआर लोकेश गाथे व प्रआर किशोर सांवलिया को पुलिस कंट्रोल रूम इन्दौर के लगे कैमरो पर उपरोक्त नंबर ऑटो रिक्शा का नंबर देखने हेतु लगाया गया।

इसी दौरान एक टीम के प्रआर सुरेश वर्मा, प्रआर शिवकुमार दीक्षित, तथा आरक्षक ब्रजेश लोधी द्वारा जंजीरवाला चौराहा, लेन्टर्न चौराहा एवं अन्य ऑटो रिक्शा स्टैंड पर उपरोक्त आर्टो रिक्शा की खोज की गई एवं गंगा विहार कॉलोनी के जहां से पोस्टर लगे थे उसकी जानकारी एकत्रित की गई, तभी एक टीम को पता लगा कि उपरोक्त आँटो रिक्शा जिसमे उक्त नाबालिग लडकी बैठी थी, वह रीगल चौराहे की तरफ से होते हुए छोटी ग्वालटोली रेलवे स्टेशन की तरफ गया है ।

उपरोक्त टीम तत्परता से तुरंत रेलवे स्टेशन पर पहुंची जहां पर उक्त बालिका की काफी तलाश की गयी किन्तु नही मिली । रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे देखने पर ज्ञात हुआ कि उक्त बालिका प्लेटफार्म नंबर 04 से इन्दौर जबलपुर ओवरनाइट एक्सप्रेस ट्रेन के कोच नंबर डी-4 बैठते दिखाई दी तो तत्काल रात्रि 11.20 बजे जीआरपी पुलिस भोपाल फोन को सूचना दी गई । उक्त ट्रेन रात्रि 11:30 बजे पर भोपाल रेलवे स्टेशन पर पहुंचती है जिस पर जीआरपी भोपाल के अधिकारी व कर्मचारियो ने तत्परता दिखाते हुए अपनी टीम को लगा कर उपरोक्त बालिका को सकुशल ट्रेन से बरामद किया जो थाना तुकोगंज की एक टीम को भोपाल भेजकर उक्त नाबालिग बालिका को सकुशल दस्तयाब किया और बाद में परिजनो के सुपुर्द किया गया।

ऐसे गंभीर प्रकरणो में पुलिस आयुक्त इन्दौर महानगर श्री हरिनारायणचारी मिश्र व अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्री मनीष कपूरिया द्धारा पुलिस उपायुक्त जोन – 3 इन्दौर महानगर महोदय श्री धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया को निर्देशित किया गया था, जिसके पालन मे अति.पुलिस उपायुक्त महोदय, जोन-3 जिला इन्दौर श्री राजेश रघुवंशी एवं सहायक पुलिस आयुक्त श्री हरीश मोटवानी को कार्य योजना तैयार करने हेतु निर्देशित किया था जिनके पालन में थाना प्रभारी तुकोगंज निरीक्षक कमलेश शर्मा द्धारा कार्ययोजन तैयार कर उसके अनुरुप कार्य किया ।

must read: Bhopal में बंद सभी शराब दुकानें, सरकार को होगा इतने करोड़ का नुकसान

उक्त सराहनीय कार्य मे निरीक्षक कमलेश शर्मा, थाना प्रभारी तुकोगंज व उनकी टीम के उनि सलीम खान, सउनि महेन्द्र प्रताप सिंह, प्रधान आरक्षक 2173 सुरेश वर्मा, प्रधान आरक्षक 1500 लोकेश गाथे, प्रधान आरक्षक 1221 किशोर सांवलिया, प्रधान आरक्षक 1969 शिवकुमार दीक्षित, आरक्षक 3146 ब्रजेश लोधी, आरक्षक 3465 संजीव धाकड, आरक्षक 3645 रामू श्रीवास, आरक्षक 2234 धरमसिंह बारेला, आरक्षक 3073 पियुष तिवारी की अहम भूमिका रही है ।

इनके अतिरिक्त पुलिस थाना छोटी ग्वालटोली के प्रधान आरक्षक 1690 राहुल, प्रधान आरक्षक 1471 सुभाष, आरक्षक 3431 राघवेन्द्र, थाना सेन्ट्रल कोतवाली के प्रधान आरक्षक 66 संजय पाण्डेय आरक्षक 2222 अमित जाट , थाना खजराना के प्रधान आरक्षक 132 जितेन्द्र एवं जीआरपी पुलिस इन्दौर व भोपाल के अधिकारियो व कर्मचारियो का सहयोग भी अहम रहा है ।