ड्रग तस्कर पर इंदौर क्राइम ब्रांच का प्रहार, जप्त किया 5 लाख का मादक पदार्थ

क्राईम ब्रांच टीम के द्वारा लगातार अवैध मादक पदार्थ के क्रय विक्रय व उपयोग मे संलिप्त व्यक्तियो के संबंध मे गोपनिय रुप से लगातार असूचना संकलन किया जा रहा है। इसी दौरान क्राइम ब्रांच टीम को मुखबिर द्वारा बताया कि एक व्यक्ति लसूड़िया क्षेत्र के निरंजनपुर सब्जी मंडी के पास खाली मैदान में अवैध मादक पदार्थ किसी अन्य व्यक्ति को बेचने के लिए जाने वाला है।

इंदौर। पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र द्वारा इंदौर कमिश्नरेट में मादक पदार्थ तस्करों के विरूध्द कार्यवाही करने हेतु “आपरेशन प्रहार” अंतर्गत कड़ी कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया हैं। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त(अपराध) राजेश हिंगणकर द्वारा पुलिस उपायुक्त (क्राईम ब्रांच) निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (क्राईम ब्रांच) इंदौर गुरूप्रसाद पाराशर को अवैध मादक पदार्थ बिक्री के संबंध मे पतारसी एवं निगरानी हेतू निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशों के तारतम्य में आरोपीगणों पर आवश्यक कार्यवाही हेतु क्राइम ब्रांच की टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं ।

Must Read- भीषण गर्मी के चलते भोपाल में बदला गया स्कूलों का टाइम, कलेक्टर ने दिया आदेश

इसी अनुक्रम में क्राईम ब्रांच टीम के द्वारा लगातार अवैध मादक पदार्थ के क्रय विक्रय व उपयोग मे संलिप्त व्यक्तियो के संबंध मे गोपनिय रुप से लगातार असूचना संकलन किया जा रहा है। इसी दौरान क्राइम ब्रांच टीम को मुखबिर द्वारा बताया कि एक व्यक्ति लसूड़िया क्षेत्र के निरंजनपुर सब्जी मंडी के पास खाली मैदान में अवैध मादक पदार्थ किसी अन्य व्यक्ति को बेचने के लिए जाने वाला है। मुखबिर की सुचना पर क्राईम ब्रांच व थाना लसूड़िया की टीम ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए मुखबिर के बताए स्थान पर पहुंचे, जहां पर एक व्यक्ति संदिग्ध दिखा, जो पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करते हुए घेराबंदी में पकड़ा गया। पूछताछ पर अपना नाम आशुतोष उर्फ आशु बोरासी पिता तुलसीराम निवासी E–5 श्रीरामकृष्ण बाग कॉलोनी, खजराना,इंदौर का होना बताया। आरोपी की तलाशी लेने पर 51 ग्राम अवैध मादक पदार्थ(एमडी ड्रग्स) होना पाया। आरोपी से अवैध मादक पदार्थ (MD ड्रग्स) कुल 51 ग्राम अंतराष्ट्रीय कीमत करीब 5 लाख 10 हजार रुपए जप्त कर, आरोपी के विरुद्ध थाना लसूडिया पर अपराध धारा 08/21 एन.डी.पी.एस एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।