Independence Day 2022 LIVE : जय विज्ञान में पीएम मोदी ने जोड़ा जय अनुसंधान, दिया नया नारा

देश इस बार स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव को पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर घर तिरंगा अभियान भी जोर शोर से चलाया जा रहा है।

देश इस बार स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव को पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर घर तिरंगा अभियान भी जोर शोर से चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नौवीं बार लाल किले से राष्ट्रीय ध्वज फहराया। बता दें इस दौरान 21 तोपों की सलामी भी दी गई। इस दौरान लाल किले के आसपास सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दीं।

दुनिया हम पर गर्व करेगी- पीएम

पीएम ने कहा, हम जीव में भी शिव देखते हैं, हम वो लोग हैं जो नर में नारायण देखते हैं, हम वो लोग हैं जो नारी को नारायणी कहते हैं, हम वो लोग हैं जो पौधे में परमात्मा देखते हैं, हम वो लोग हैं, जो नदी को मां मानते हैं, हम वो लोग हैं, जो कंकड़-कंकड़ में शंकर देखते हैं… ये हमारा सामर्थ्य है, जब विश्व के सामने खुद गर्व करेंगे तो दुनिया करेगी।

पीएम मोदी ने दिया नया नारा

पीएम मोदी ने कहा, लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान, जय किसान का नारा दिया था। इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने इसमें जय विज्ञान जोड़ा और अब इसमें जय अनुसंधान जोड़ने का समय आ गया है। अब जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान हो।

Also Read – राष्ट्रीय प्रथम, यही हमारा धर्म – जयराम शुक्ल

पीएम मोदी ने लाल किले से दिलाए ये 5 प्रण

1-विकसित भारत- अब देश बड़े संकल्प लेकर चलेगा, और वो बड़ा संकल्प है विकसित भारत और उससे कुछ कम नहीं होना चाहिए।

2-गुलामी के हर अंश से मुक्ति का प्रण- दूसरा प्रण है किसी भी कोने में हमारे मन के भीतर अगर गुलामी का एक भी अंश हो उसे किसी भी हालत में बचने नहीं देना।

3-विरासत पर गर्व- तीसरी प्रण शक्ति है कि हमें हमारी विरासत पर गर्व होना चाहिए. यही विरासत है, जिसने भारत को स्वर्णिम काल दिया था। यह विरासत है जो समय समय पर परिवर्तन करने का सामर्थ्य रखती है।

4- एकता और एकजुटता का प्रण- चौथा प्रण है एकता और एकजुटता. 130 करोड़ देशवासियों में एकजुटता। न कोई अपना न कोई पराया। एक भारत औऱ श्रेष्ठ भारत के लिए यह प्रण है।

5-नागरिकों को अपने कर्तव्यपालन का प्रण- पीएम मोदी ने कहा, 5वां प्रण है नागरिकों का कर्तव्य. इससे पीएम, मुख्यमंत्री भी बाहर नहीं होता है। ये 25 सालों के संकल्प को पूरा करने के लिए हमारे प्रण हैं।