लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने ड्रग्स की समस्या के साथ कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान टीएमसी सांसद बीच में टोका टाकी शुरू कर दी थी। इसके बाद वह भंडक गए और उनसे नाराज होकर वापस अपनी कुर्सी पर बैठ गए। यह वाकया तब हुआ जब लोकसभा के शीतकालीन सत्र में शाह अपनी बात रख रहे थे।

क्यों नाराज हुए अमित शाह?

असल में जब अमित शाह अपना भाषण दे रहे थे, बीच में टीएमसी सांसद सौगत राय ने टोका टाकी करना शुरू कर दिया। उस अवरोध से गृह मंत्री नाराज हो गए और उनकी तरफ से दो टूक कहा गया कि बीच में टोका टाकी करना ठीक नहीं है। यह आपकी उम्र के लिए भी ठीक नहीं है और ना ही आप की सीनियरिटी के लिए। अगर आपको बोलना है तो मैं बैठ जाता हूं।10 मिनट आप बोल लिजिए. विषय की गंभीरता को समझिए।

ड्रग्स मुद्दे पर शाह ने क्या बोला?

बाद में जब विपक्ष के किसी साथी ने बोला कि गृह मंत्री नाराज क्यों होते हैं, इस पर अमित शाह ने सिर्फ इतना कहा कि वे नाराज नहीं बल्कि समझा रहे हैं। कई बार बड़ों को भी समझाना पड़ता है। इसके बाद सदन में टोका टाकी बंद हो गई और अमित शाह ने ड्रग्स के मुद्दे पर अपने विचार रखे। उनकी तरफ से इस बात पर खुशी जाहिर की गई कि इस एक मुद्दे पर सभी पार्टियां एकजुट दिखाई देती हैं। हर राज्य ने केंद्र के साथ मिलकर ड्रग्स की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए काम किया है।

अमित शाह ने अपने संबोधन में इस बात पर भी जोर दिया कि हमे ड्रग्स ले रहे शख्स के प्रति सहानुभूति दिखानी होगी और जो ये ड्रग्स बेच रहा है, जो इसके नेटवर्क को मजबूत करने का काम कर रहा है, उसके खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन लेना होगा।