मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है। देश में मौजूदा समय की बता करे तो कुछ हिस्सों में बारिश का माहौल बना हुआ है तो कही पर बर्फबारी और इसी के साथ ठंडक भी महसूस होने लग रही है। इसी बीच एक बार फिर से मौसम विभाग ने भीषण बरसात का अलर्ट जारी कर दिया है। उन्होंने अनुमान लगते हुए दक्षिण भारत के 7 राज्यों में भारी वर्षा होने की आशंका जाहिर की है। वही दिल्ली में बढ़ रहे वायु प्रदूषण की वजह से स्कूलों को बंद करने के आदेश भी जारी हो गए है।

यहां भी स्कूलो को बंद की चेतावनी की जारी

तमिलनाडु केरल कर्नाटक में लगातार भारी बारिश का दौर जारी है। इसकी वजह से लोगों को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वही केरल में स्कूलों को बंद रखने की गइडलाइन भी जारी कर दी है। इसी के साथ उत्तर भारत की बात करें तो बिहार झारखंड पश्चिम बंगाल सहित मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में ठंड का प्रकोप बढ़ने लगा है। दरअसल उत्तर की तरफ से हो रही बर्फबारी के कारण ठंडी हवा लगातार इन राज्य में प्रवेश कर रही है। जिसके कारण मौसम में कपकपी महसूस होने लगी है।

राहत की उम्मीद नही

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, दक्षिण भारत में आने वाले कुछ दिनों में भीषण बारिश का दौर जारी रहेंगा। जिससे लोगों को फिलहाल राहत नही मिलने वाली हैं। हालांकि, उत्तर भारत में धिरे-धिरे राहत मिलने लगी है जबकि उत्तर प्रदेश, बिहार सहित कई राज्यों में गुलाबी ठंडक दस्तक देने लग गई है। इसी के साथ कोहरे भी दिखाई देने लग गया है।

दूसरी तरफ तमिलनाडु पांडिचेरी कराईकाल और केरल में अगले 5 दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। वहीं 4 नवंबर से वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर भी देखने को मिलेगा। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिम हिमालय क्षेत्र पर वेस्टर्न डिस्टरबेंस तैयार हो रहा। जिसके मैदानी इलाके पर भारी असर देखने को मिलेंगे। इस दौरान मैदानी इलाकों में बूंदाबांदी सहित आंधी तूफान की संभावना जताई गई है।

राष्ट्रीय राजधानी की हवा हाल-बेहाल

राष्ट्रीय राजधानी में लोगों को बारिश से राहत तो मिल गई है वही हवा ने उनकी मुश्किलें बड़ा दी है। वायु की गुणवत्ता खराब देखने की वजह देखने को मिल रही है। इस वजह से शासकिय ऑफिसों में कार्मचारियों के लिए एक आदेश जारी किया गया है। जिसमें 50 प्रतिशत कार्मचारियों को वर्क फ्राम होम दे दिया गया है। इसी के साथ स्कूलों को बंद करने के आदेश भी दे दिए गए है। बता दें कि, दिल्ली में हवा की गुणवत्ता को आज तड़के सुबह 426 AQI मापा गया था। मौसम विभाग ने कहा कि सुबह 8:30 बजे सापेक्षिक आद्रता 426 प्रतिशत रिकॉर्ड की गई थी।

कोहरे की चादर में लिपटा

उत्तर प्रदेश बारिश के बाद ठंड की दस्तक के साथ कोहरे की चादर से ढ़कने लग गया है। नवंबर की शुरुआत के साथ ही उत्तर प्रदेश में कोहरे का सिलसिला शुरू हो गया है, सामान्य की तुलना में तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जा रही है। अगले कुछ दिनों तक सुबह के मौसम में ऐसे ही बदलाव देखने को मिलेंगे। 9 नवंबर तक उत्तरी राज्यों में मध्यम से गंभीर बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

इससे पहले आज रात एक नया पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव हो रहा है। जिसके 5 नवंबर तक आसपास के निचले इलाकों पर हमला करने की उम्मीद है। इससे उत्तरी राज्यों के तापमान में और गिरावट दर्ज की जा सकती है।

चार फिसदी की गिरावट रिकॉर्ड

बिहार झारखंड में अचानक से ठंड की दस्तक शुरू हो गई है। पटना समेत कई जिलों में भी तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। राज्य भर में गया में सबसे कम तापमान दर्ज किया गया है जबकि सारण नवादा और सीतामढ़ी में भी तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी है। उत्तरी पछुआ हवा का प्रभाव देखने को मिल रहा है ठंड में लगातार बढ़ोतरी हो रही है कोहरे से मौसम पड़ा हुआ है। भागलपुर में न्यूनतम तापमान 19 डिग्री जबकि पूर्णिया में न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

Also Read : Delhi MCD Election की तारीखों का ऐलान, चुनाव आयुक्त ने PC करके दी जानकारी, 7 दिसंबर को आएंगे नतीजें

कोई खास बदलाव नही

झारखंड में कुछ दिनों तक मौसम साफ रहने की उम्मीद है आसमान साफ रहेगा। शुष्क मौसम रहने की संभावना है मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक मौजूदा हवा के पैटर्न में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कोई खास बदलाव नहीं होने के आसार नजर आ रहे हैं। जमशेदपुर रांची बोकारो धनबाद सहित कई जगह पर आज तेज धूप खिली रहेगी। मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक नवंबर के पहले और दूसरे सप्ताह में किसी भी तरह की बारिश की संभावना से इनकार किया गया है।

बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव

बंगाल उड़ीसा में एक बार फिर से मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। दरअसल अगले सप्ताह तक बंगाल की खाड़ी में एक निम्न दबाव के क्षेत्र निर्मित होने की संभावना जताई गई है। जिसके कारण मौसम में बदलाव की स्थिति निर्मित हो गई। अगले सप्ताह के साथ ही बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र उत्पन्न होगा। जिसके कारण उड़ीसा के कई क्षेत्रों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। इससे पहले लगातार दक्षिणी राज्य में हो रही बारिश का प्रभाव भी उड़ीसा पर पड़ रहा है। कई क्षेत्रों में मौसम ठंडा बना हुआ है।

MP मौसम का हाल

मध्यप्रदेश में फिलहाल कड़ाके की ठंड से इनकार किया गया। मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में अभी सर्दी के लिए लोगों को थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि उत्तर की तरफ से आ रही सर्द हवा के कारण तापमान में गिरावट का दौर जारी है। वहीं कोहरे की दस्तक भी देखने को मिल रही है। गुलाबी ठंड का अहसास होने लगा है। साथ ही सुबह और शाम के मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रहा। हालांकि मौसम विभाग द्वारा कई क्षेत्रों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। कुछ क्षेत्रों में बूंदाबादी देखने को मिल सकती है जबकि पश्चिमी विश्व का भी असर छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश पर देखने को मिलेगा।

बर्फबारी का दौर शुरू

हिमाचल प्रदेश में मौसम बदलने के आसार बन गए हैं। बारिश की संभावना को लेकर सतर्क कर दिया गया है। जनजातीय जिलों में बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। अक्टूबर के अंत के साथ ही प्रदेश में बादलों की दस्तक शुरू हो गई है। निचले और मध्यम ऊंचाई वाले स्थानों पर हल्की बारिश देखने को मिल सकती है। साथ ही ऊंचाई वाले स्थानों पर हिमपात होने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने सचेत रहने का अलर्ट जारी करते हुए बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है।

04 नवंबर से 8 नवंबर के बीच गरज के साथ बारिश

तमिलनाडु के लिए तंजावुर, थिरुवरुर मयिलादुथुराई, नागपट्टिनम, कांचीपुरम जिले के कुंद्राथुर में छुट्टी का ऐलान किया गया है। वहीं, पुडुचेरी और कराईकल में भी अगले दो दिनों के लिए स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है। चेन्नई में कॉलेज में भी छुट्टी का ऐलान किया गया है। मौसम विभाग की मानें तो चेन्नई में आज 04 नवंबर से 8 नवंबर के बीच गरज के साथ बारिश की आशंका है।

बता दें, तमिलनाडु, पुडुचेरी,कराईकल में पिछले कई दिनों से बारिश की गतिविधियां जारी हैं। इसके अलावा, तटीय आंध्र प्रदेश, केरल और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभवना है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, तटीय कर्नाटक और रायलसीमा में हल्की बारिश संभव है।