दिल्ली नगर निगम की तारीखों का ऐलान मुख्य चुनाव आयोग ने शुक्रवार को कर दिया है। वहीं नगर निगम में पहले 272 सीटे थी लेकिन उनको घटाकर 250 कर दिया गया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फेंस के दौरान कहा कि, चुनाव के लिए पिछली बार की EVM मशीन का उपयोग किया जाएंगा। इसके लिए 50 हजार से ज्यादा ईवीएम रखी गई है तो वही सबसे पहले मॉक पोल होगा, नोट का इस्तेमाल होगा। इसके साथ-साथ वोटर की सुविधा के लिए फोटोग्राफ युक्त आईडी दिखाना होगा। निगम के चुनाव में एक लाख से ज्यादा कर्मचारियों की तैनाती की जाएंगी जिसमें पुलिस को भी शामिल किया गया है।

इस तारीख को होगें चुनाव

दिल्ली चुनाव आयुक्त विजय देव ने प्रेस कॉन्फेंस करके कहा कि, दिल्ली नगर निगम के चुनाव 4 दिसंबर को वोटिंग होगी और 7 दिसबंर को नतीजें घोषित होगें। वोटिंग सुबह 8 बजे से शाम के 5 बजे तक होगी। आगे उन्होंने बताया कि, नामांकन भरने की दिनांक 7 नवंबर से अखिरी तारीख 14 नवंबर होगी। वही 16 नवंबर तक नामांकन फार्म की स्क्रूटनी होगी। नामांकन पत्र वापसी की आखिरी तारीख 19 नवंबर होगी।

आचार संहिता लागू

उन्होंने आगे बताया कि, चुनाव में 250 एआरओ होंगे। 2 हजार सेक्टर मजिस्ट्रेट होंगे। 68 जनरल ऑब्जर्वर तैनात होंगे। दिल्ली में आज से ही आचार संहिता लागू हो जाएगी। उसके बाद लगातार नियमों की निगरानी की जाएगी. मॉडल बुक ऑफ कंडक्ट की एक बुकलेट जारी की जाएगी। जिसमें सारे प्रावधानों का उल्लेख है। लाउडस्पीकर पर रोक रहेगी. इसके लिए परमीशन लेनी होगी।

Also Read : Gujarat: केजरीवाल ने किया ‘AAP’ के CM चेहरे का ऐलान, ईसूदान गढ़वी होंगे मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार

आज से अवैध होर्डिंग्स व पोस्टरों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई होगी। रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर की परमीशन लेकर बजा सकेंगे। उम्मीदवारों का नामांकन 68 स्थानों पर सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक होगा। पुलिस को भी उचित सुरक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं। उम्मीदवार 5.75 लाख से बढ़ाकर 8 लाख रुपए तक खर्च कर सकता है।

पहले इतनी थी सीटे

इससे पहले दिल्ली नगर निगम में 272 सीटें थीं। पहले उत्तरी और दक्षिण नगर निगम 104-104 पार्षद सीटें थीं, जबकि पूर्वी दिल्ली में 64 सीटें हुआ करती थीं, लेकिन एकीकरण और परिसीमन के बाद 250 सीटें हैं। दिल्ली के 21 विधानसभा क्षेत्रों में एक-एक वार्ड कम किए गए हैं तो एक विधानसभा में सीट बढ़ी भी है। इस तरह दिल्ली में 250 वार्डों में पार्षद के चुनाव होंगे।

इतने होगें पोलिंग स्टेशन

दिल्ली में 250 वार्ड में निगम चुनाव होंगे। दिल्ली विधानसभा के हिसाब से बने मतदाता सूची का इस्तेमाल एमसाडी चुनाव में होगा। पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली में 2860 पोलिंग स्टेशन पर कुल 13 हजार 760 मतदान बूथ बनाए गए थे, लेकिन यह निकाय चुनाव है। ऐसे में मतदाताओं की संख्या बढ़ी है, जिसके लिहाज से मतदान केंद्र संख्या पहले से ज्यादा होगी। जिला चुनाव अधिकारियों को निर्देश है कि पोलिंग स्टेशन जिस वार्ड के लिए बनाए जा रहे हैं, वे उसी की सीमा क्षेत्र में स्थित हो। एमसीडी चुनाव कराने के लिए बिहार के 12 जिलों से 30 हजार ईवीएम मंगाई गई हैं।