नई दिल्ली। इन दिनों ऑनलाइन पेमेंट ट्रांसजेक्शन का इस्तेमाल ऊंचाईओें पर है। ऐसे में कई एप्पस भी है जिन पर ग्राहकों को भरोसा बना हुआ है। ऐसे में गूगल पे पर इन दिनों कई सवाल उठे थे। जिसके जवाब में कंपनी ने बुधवार को सफाई दी है। गूगल पे की ओर से कहा गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के दिशानिर्देशों के तहत निर्धारित प्रक्रिया द्वारा उसके प्लेटफॉर्म के माध्यम से किए जाने वाले लेन-देन पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

सोशल मीडिया पर गूगल पे ने कहा कि इस चर्चा के बाद आया कि गूगल पे से पैसे ट्रांसफर करते समय आने वाले मुद्दों को कानून के तहत निवारण नहीं किया जा सकता है क्योंकि ये ऐप अनधिकृत है। दरसअल बीते दिनों गूगल पे पर पेमेंट ट्रांसजेक्शन में दिक्कतें आने की समस्या पर सवाल उठाए जा रहे थे।

हालांकि इस पर गूगल पे की और से कहा है कि पैसे ट्रांसफर करते समय अगर कोई दिक्कत आती है तो उसका समाधान कानून द्वारा नहीं किया जा सकता, क्योंकि ऐप अनधिकृत है। लेकिन इसकी सच्चाई को एनपीसीआई की वेबसाइट पर वेरीफाई किया जा सकता है।

गूगल के प्रवक्ता ने कहा कि आरबीआई ने इस तरह की कोई बात अदालत की सुनवाई में नहीं कही है। प्रवक्ता ने कहा कि गूगल पे पूरी तरह से कानून के दायरे में है। यह पार्टनर बैंकों को यूपीआई के माध्यम से पेमेंट करने के लिए एक प्रौद्योगिकी सेवा प्रदाता के रूप में काम करता है।