आधार कार्ड से हो रहे हैं फ्रॉड, इन 5 तरीकों से अपने पहचान पत्र का करें सुरक्षित उपयोग

आधार कार्ड के बढ़ते फ्रॉड रोकने के लिए कुछ उपायों को अपनाया जा सकता है.

Adhaar Card: आधार कार्ड आज के समय में सबसे जरूरी दस्तावेज बन चुका है. मोबाइल की सिम खरीदने से लेकर बैंक का अकाउंट और हर शासकीय और अशासकीय योजना का लाभ उठाने के लिए यह सबसे जरूरी डॉक्यूमेंट है. लेकिन जिस तरह से इसका उपयोग बड़ा है उसी तरह से फ्रॉड के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं. भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यानी यूआईडीएआई (UIDAI) ने हाल ही में आधार कार्ड की फोटो कॉपी का इस्तेमाल ना करने की सलाह दी थी. हालांकि, अब अपने सुझाव को एजेंसी ने वापस ले लिया है.

इतना सब कुछ होने के बाद भी आधार को लेकर चल रहे खतरे और लोगो के भीतर बढ़ रहे डर में कोई कमी नहीं देखी गई है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि आधार का गलत इस्तेमाल कैसे रोका जा सकता है. आपको कुछ सावधानियां रखने की जरूरत है जिससे आधार के गलत इस्तेमाल पर रोक लगाई जा सके.

Must Read- इंदौर नगर निगम चुनाव में बीजेपी के पुष्यमित्र भार्गव ने दर्ज की जीत, संजय शुक्ला को दी मात 

कैसे रोके गलत इस्तेमाल

सरकार ने आधार के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए इसे लॉक करने की सुविधा उपलब्ध कराई है. इसका मतलब यह है कि जब आपको आपके आधार का उपयोग नहीं करना है आप इसे लॉक कर सकते हैं. इसका मतलब यह है कि कोई आपके आधार का गलत इस्तेमाल नहीं कर पाएगा.

मास्क आधार

सरकार ने अपने फोटोकॉपी वाले बयान को तो वापस ले लिया है लेकिन आधार के फ्रॉड से बचने के लिए एक नया उपाय दिया गया है जिससे फ्रॉड काफी हद तक रोका जा सकेगा. बताया गया है कि आधार की फोटो कॉपी की जगह आधार की आखिर चार संख्या दिखाने वाला मास्क्ड आधार कार्ड उपयोग किया जा सकता है. इसमें आगे के 6 अंक छिपे रहेंगे और बाकी के 4 अंक ही नजर आएंगे. इस आधार को आप https://myadhaar.uidai.gov.in से डाउनलोड कर सकते हैं.

ईमेल आईडी

अगर आपका आधार कार्ड मेल आईडी और मोबाइल नंबर से जुड़ा हुआ है तो आप जब भी बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन करें तो उसका ईमेल आपके पास जरूर पहुंचेगा. इसे आप यह पता लगा सकते हैं कि आपका आधार कहां उपयोग किया गया है.

लॉक/अनलॉक आधार कार्ड

यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाकर आधार सर्विस के सेक्शन में लॉक अनलॉक के ऑप्शन से आधार को लॉक या अनलॉक किया जा सकता है. एक बार लॉक होने के बाद बायोमेट्रिक स्थान की जानकारी और ओटीपी सत्यापन का इस्तेमाल नहीं हो सकेगा. अगर आप बायोमैट्रिक लॉकिंग सिस्टम अप्लाई कर देंगे तो यह तब तक लॉक रहेगा जब तक आप इसे अनलॉक नहीं करेंगे. इसके लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर होना जरूरी है.