व्रत और त्यौहार : आज है पवित्र हरियाली तीज, पति की लम्बी आयु के लिए महिलाएं रखती हैं उपवास

सावन माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरियाली तीज के नाम से जाना जाता है।  इस वर्ष भारतीय पंचाग के अनुसार आज 31 जुलाई 2022 रविवार को हरियाली तीज मनाई जा रही है। यह पर्व महिलाओं को समर्पित माना जाता है। इस वर्ष हरियाली तीज पर बन रहा है रवि योग।

सावन माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरियाली तीज (Hariyali Teej) के नाम से जाना जाता है।  इस वर्ष भारतीय पंचाग के अनुसार आज 31 जुलाई (July) 2022 रविवार को हरियाली तीज मनाई जा रही है। यह पर्व महिलाओं को समर्पित माना जाता है। हरियाली तीज श्रावणी तीज या छोटी तीज भी कहा जाता है। श्रावण माह के दौरान धरती हरियाली की चादर ओढे रहती है, इस लिए भी इस तीज को हरियाली तीज कहा जाता है। इसके साथ ही देश के कई अलग-अलग हिस्सों में इस तीज को पृथक नामों से सम्बोधित किया जाता है, जैसे पंजाब में तीयन, तो राजस्थान में शिंगरा तीज के नाम से इसे जाना जाता है।

Also Read-मीराबाई चानू ने रचा इतिहास, कॉमनवेल्थ गेम में भारत को दिलाया पहला गोल्ड

इस वर्ष हरियाली तीज पर बन रहा है रवि योग

इस वर्ष हरियाली तीज पर विशिष्ट रवि योग का निर्माण हो रहा है। यह योग नाम के अनुसार रवि अर्थात सूरज भगवान के तेज स्वरूप का प्रतिनिधित्व करता है और तेजस्विता और समदृद्धि में विशेष वृध्दि करता है।

Also Read-कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, वेतन वृद्धि और निर्धारण पर अब मिलेगा यह लाभ, जारी हुए आदेश

पति की लम्बी आयु के लिए महिलाएं रखती हैं व्रत

सावन माह में आने वाली इस हरियाली तीज पर सनातन धर्म की महिलाएं जगतजननी माता पार्वती को साक्षी मान कर अपने पति की लम्बी आयु के लिए व्रत रखती हैं। साथ ही कुंवारी कन्या योग्य वर की कामना के साथ इस व्रत को करती हैं। मान्यता है कि हरियाली तीज के ही दिन भगवान भोले शंकर ने देवी पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार किया था। इसके साथ ही हरियाली तीज के दिन वटवृक्ष के पूजन और आराधना की भी हमारी संस्कृति है। इस दिन जरुरतमंदों को आवश्यक वस्तुओं के दान की भी परम्परा है।