महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम के बीच देवेंद्र फडणवीस दिल्ली के लिए रवाना

महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम के बीच देवेंद्र फडणवीस दिल्ली के लिए रवाना ,शिवसेना की बढ़ सकती हैं मुश्किलें , साथ छोड़ सकते हैं विधायक ,सभी प्रमुख पार्टियों में बैठकों का दौर जारी

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस(Devendra Fadnavis) आज सुबह दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। वह महाराष्ट्र में होने वाले महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव और उसके बाद के घटनाक्रम पर पार्टी के आला नेताओं के साथ चर्चा विमर्श करेंगे। महाराष्ट्र में जहां राजनैतिक गहमागहमी तेज़ है वहीँ देवेंद्र फडणवीस का दिल्ली रवाना होना महाराष्ट्र की राजनीति में नई सियासी हलचल पैदा कर रहा है।

शिवसेना की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, क्या साथ छोड़ेंगे विधायक

महाराष्ट्र एमएसली चुनाव में भाजपा के सभी पांचों उम्मीदवारों ने चुनाव में जीत दर्ज कराई हैं। । एमएलसी चुनाव के परिणामो के बाद शिवसेना के 13 विधायकों के भी गुजरात पहुंचने की खबर है। बताया जा रहा है कि इसमें एकनाथ शिंदे भी शामिल हैं। कुछ सूत्र इन विधायकों की संख्या 25 तक हो सकती है ऐसा भी बता रहे हैं ।महाराष्ट्र में एमएलसी चुनाव परिणाम से भारतीय जनता पार्टी तो खुश है लेकिन , सत्ताधारी महा विकास अघाड़ी में निराशा की स्थिति है । एमवीए ने शिवसेना के नेतृत्व में पांच सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि छठी सीट उसे हार का सामना करना पड़ा।

Read More : Maharashtra : शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे ने खेला खेल, टेंशन में उद्धव ठाकरे की सरकार

माना जा रहा है कि शिवसेना के वोटों में बंटवारे की वजह से इस तरह के परिणाम आए हैं । पार्टी में बड़े विद्रोह की आशंका है, इसका कारण उद्धव सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे की नाराजगी बताई जा रही है। एकनाथ शिंदे और ठाकरे परिवार के बीच विधान परिषद चुनाव से पहले अनबन की भी चर्चा हुई थी। उद्धव ठाकरे द्वारा पार्टी की आपात बैठक बुलाई है। पार्टी की इस अंदरूनी बैठक को बेहद खास माना जा रहा है।

कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट ने भी विधायकों और नेताओं की बैठक बुलाई है

Read More : बच्चन परिवार में पड़े नन्हें कदम, एक बार फिर दादा बने Amitabh Bachchan

महाराष्ट्र की राजनीति की इस गहमागहमी के बीच जहां बीजेपी और शिवसेना में बैठकों का दौर तेज़ है वहीं महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता बालासाहेब थोरात ने भी विधायकों और नेताओं की आपात बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कांग्रेस भी अपना पूरा दमखम महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में लगाने का प्रयास करेगी। महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव इस आधार पर काफी अहम होने वाले हैं , राजनैतिक गलिहारों में चर्चाओं की गहमागहमी जारी है।