SAIF जोन के माध्यम से ग्लोबल बाज़ार से जोड़े अपना व्यापार, UAE में शुरू करे कारोबार

इंदौर, सोमवार, 14 मार्च 2022 : हाल ही में भारत और यूनाइटेड अरब एमिरेट्स (यूएई) के बीच हुए ‘फ्री ट्रेड अग्रीमेंट’ के तहत भारत से यूएई में निर्यात की जा रही अधिकतर वस्तुओं पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम करने या ख़त्म करने को लेकर सहमती बनी है। इसी तारतम्य में, प्रदेश से यूएई में निर्यात को बढ़ावा देने और उद्योगों के बीच फ्री ट्रेड अग्रीमेंट की जानकारी पहुँचाने और इसकी बारीकियों पर चर्चा करने के लिए सोमवार 14 मार्च 2022 को शहर में एक ‘शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री (SAIF) जोन में व्यापार के अवसर’ पर एक परिचर्चा का आयोजन किया गया l

ALSO READ: BJP पर जमकर बरसे Kamalnath, CM Shivraj को बताया नौटंकी

यह कार्यक्रम मुख्य रूप से एसोसिएटेड चेंबर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ऑफ़ इंडिया (एसोचैम) के तत्वाधान और इंदौर मैनेजमेंट एसोसिएशन के सहयोग से, मध्यप्रदेश टेक्सटाइल मिल एसोसिएशन, एसोसिएशन ऑफ़ इंडस्ट्रीज मध्यप्रदेश, फेडरेशन ऑफ़ मध्यप्रदेश चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज और मालवा चेंबर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के साथ मिलकर किया गया था l

इस कार्यक्रम में प्रदेश के 150 से अधिक कारोबारी शामिल हुए थे, जिन्होंने यूएई में व्यवसाय शुरू करने को लेकर अपनी जिज्ञासाएं सामने रखी। इस मौके पर सैफ जोन के अधिकारीयों द्वारा एक प्रेजेंटेशन के माध्यम से सैफ जोन में कारोबार स्थापित करने को लेकर जानकारी दी गई।

‘शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री (SAIF) जोन में व्यापार के अवसर’ परिचर्चा में सैफ जोन के डायरेक्टर सौद सलीम अल मज़रोउई ने कहा कि : शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री (सैफ) जोन व्यापार का एक ऐसा केंद्र है जहां से न केवल दुबई के, बल्कि पूरे विश्व में देशों तक व्यापार के लिए पहुंचा जा सकता है। केवल 2 लाख रूपए, यानि 10 हज़ार दिरहम देकर, सैफ जोन में कोई भी छोटे से बड़ा कारोबारी अपना ऑफिस या फैक्ट्री खोल सकता है, जिसमें एक साल का किराया, बिजली, पानी, सारी अनुमतियाँ और 3 लोगों का वीसा शामिल है। इच्छुक व्यक्ति को सैफ जोन के कार्यालय में जाकर बस अपने दस्तावेज़ जमा करने होंगे और बिना अपनी कुर्सी से हिले, उनके हाथ में उनके ऑफिस की चाबी लाकर दे दी जाएगी। यहां से कारोबार करने पर किसी भी प्रकार का कर नहीं वसूला जाएगा।

ALSO READ: Corona Vaccination: 16 मार्च से शुरू होगा 12 से 14 साल के बच्चों का टीकाकरण, प्रीकॉशन डोज भी लगेगी

सैफ जोन की तरफ से डायरेक्टर ऑफ मार्केटिंग एंड बिज़नेस रीलेशंस राइद अबदल्ला बुखातिर द्वारा कार्यक्रम के दौरान इन्ही सभी बारीकियों को समझाते हुए प्रस्तुति दी गई। उन्होंने बताया कि : शारजाह में 3 बंदरगाह हैं। दुनिया के सबसे बड़े लॉजिस्टिक हब में से एक शारजाह में स्थित है। शारजाह हवाई अड्डे के माध्यम से बड़ी मात्रा में माल भेजा जा रहा है। माल की सीमा शुल्क समाशोधन में केवल आधा घंटा लगता है। कोई सीमा शुल्क नहीं है। मुफ्त आयात की अनुमति है और आप चाहें तो सामान आयात कर सकते हैं इसे शारजाह में अपनी दुकान पर रख सकते हैं और फिर आप चाहें तो निर्यात कर सकते हैं। कोई आयकर नहीं है। 100% विदेशी प्रायोजन की अनुमति है।

कार्यक्रम की आयोजन संस्था एसोचैम के उपाध्यक्ष श्री अखिलेश राठी ने बताया कि, “यह देखने में आया है कि टियर 2 शहरों में भारत को यूएई के बीच हुए फ्री ट्रेड अग्रीमेंट की जानकारी नहीं है। इसीलिए, यहां के उद्योगपतियों मंि इसकी जागरूकता बढाने और अपने व्यवसाय को ग्लोबल स्तर पर बढाने को लेकर सभी सहायता देने के लिए इस प्रकार के आयोजन किए जा रहे हैं। भारत से, और ख़ास तौर पर मध्यप्रदेश से खाद्य प्रसंस्करण, कपडा, ऐसे मुख्य क्षेत्र हैं जो यूएई में निर्यात करते हैं। हम चाहते हैं की ऐसे उद्योग सैफ जोन में निवेश करें और अपना व्यवसाय आगे बढाएं।”

कार्यक्रम के दौरान इंदौर मैनेजमेंट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष श्री नवीन खंडेलवाल द्वारा भी प्रेजेंटेशन दिया गया। उन्होंने कहा कि, “विदेश में अपना कारोबार स्थापित करने का यह बिलकुल सही समय है और जिस प्रकार की सुविधाएं सैफ जोन में उपलब्ध करवाई जा रही हैं, वो कही भी मिलना बहुत मुश्किल है। ऐसे में इस सुविधा का पूरा फायदा भारतीय उद्योगों को लेना चाहिए और अपने व्यवसाय का विस्तार करना चाहिए। कार्यक्रम में यूएई में व्यापार और निवेश के अवसरों पर बात की गई , यूएई में टैक्स फ्री जोन के फायदों से भी लोगों को रूबरू करवाया गया । इसके अलावा यूएई में मौजूद एफडीआई नियम की जानकारी भी मौजूद कारोबारियों को दी और यूएई में अपना ऑफिस लगाने को लेकर सभी जानकारी उपलब्ध की गई ।“

साथ ही एसोसिएशन ऑफ़ इंडस्ट्रीज मध्यप्रदेश की तरफ से श्री प्रमोद डफरिया और फेडरेशन ऑफ़ मध्यप्रदेश चेंबर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की तरफ से श्री राधाशरण गोस्वामी द्वारा भी प्रस्तुति दी गई। आभार माना इंदौर मैनेजमेंट एसोसिएशन के सचिव आश्विन पल्शिकर ने।

शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री जोन के बारे में – शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री जोन की स्थापना 1995 में हुई थी, और ये यूएई का सबसे पुराना फ्री ट्रेड जोन है, सबसे बेहतरीन सुविधाओं के साथ जिसमें ऑफिस, वेयरहाउस और किसी भी उद्योग के लिए ज़मीन उपलब्ध करवाई जाती है। शारजाह अंतर्राष्ट्रीय विमानतल के बेहद करीब होने से यह जोन ट्रेडिंग, मैन्युफैक्चरिंग, और लोजिस्टिक्स के ददृष्टिकोण से बेहद उपयुक्त स्थल है। इस जोन में अपना व्यवसाय स्थापित करने वाले व्यापारियों के लिए बहुत सारी सब्सिडी और प्रोत्साहन योजनाएं भी है। दुबई में अपना उद्योग स्थापित करने के इच्छुक लोगों के लिए यह ट्रेड जोन एक केंद्र बिंदु है।

एक ऑफिस की जगह से लेकर पूरे मैन्युफैक्चरिंग यूनिट तक, शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री जोन में हर प्रकार की ज़रूरत पूरा करने के लिए संसाधन उपलब्ध है। पूरे शारजाह एयरपोर्ट इंटरनेशनल फ्री जोन में फिलहाल पूरे विश्व से 7000 कंपनियां मौजूद हैं, जिनमें से 2000 भारतीय कंपनियां हैं।