इंदौर : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(CM Shivraj Singh) ने गुरुवार को राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर प्रेस्टिज मैनेजमेंट एंड रिसर्च कॉलेज(Prestige Management & Research College) में आयोजित कार्यक्रम में 100 दिव्यांजन को स्कूटी भेंट की। इस दौरान उन्होंने कहा कि चलो दीप जलाएं वहां अभी भी अंधेरा है। प्रदेश के हर दिव्यांजन की सेवा हो जाये यही प्रयास किये जाएंगे। ये स्कूटी मात्र परिवहन का साधन नहीं बल्कि आजिविका चलाने का साधन भी बन सकती है।

Also Read : CM अशोक गहलोत के सलाहकार के ठिकानों पर CBI का छापा, जानिए क्या है आरोप

जिला प्रशासन की इस नवकरणीय पहल की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा सभी कलेक्टर्स को निर्देश है कि अगर कोई बेटा बेटी अनाथ है तो उनके लिए शिक्षा और रहने की व्यवस्था करें। कार्यक्रम में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार, सांसद शंकर लालवानी,आईडीए अध्यक्ष जयपाल चावड़ा, विधायक रमेश मेंदोला, महेंद्र सिंह हार्डिया, इंदौर कमिशनर ड़ॉ. पवन कुमार शर्मा, आईजी हरिनारायणचारी और कलेक्टर इलैयाराजा टी उपस्थित रहे।

Also Read : सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, इस तारीख से मिलने लगेगा महंगाई भत्ता और बोनस

स्वच्छता अम्बेसडर बुलबुल पांजरे का मुख्यमंत्री ने किया स्वागत
कार्यक्रम के दौरान दिव्यांग बुलबुल पांजरे जो इंदौर की स्वच्छता अम्बेसडर है, उनका मुख्यमंत्री ने यह कहते हुए पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया कि बेटी कैसे मेरा स्वागत करे मैं बिटिया का स्वागत करूंगा। कार्यक्रम के दौरान जानकी बाई रावत ने स्कूटी के अभाव में जीवन की असहाय स्थिति और फिर स्कूटी मिल जाने से जीविकोपार्जन में महत्वपूर्ण योगदान देने की व्यथा सुनाई।