इस बढ़ती महंगाई के बीच सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी की खबर आई है। तमिलनाडु के सरकारी कर्मचार‍ियों के लिए महंगाई भत्ता और बोनस बड़ा दिया गया है। इनके साथ ही मंदिरों के स्थायी कर्मचारियों को भी फायदा मिलेंगा। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने हिंदू धार्मिक एवं धर्मार्थ बंदोबस्ती विभाग के अंतर्गत मंदिरों के स्थायी कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार प्रतिशत बढ़ोतरी का आदेश दिया है।

4 प्रतिशत की हुई बढ़ोतरी

मिली जानकारी के मुताबिक, मंदिर कर्मचारियों का भत्ता 34 प्रतिशत से बढ़ाकर 38 प्रतिशत कर द‍िया गया है। बढ़ा हुआ भत्‍ता 1 जनवरी, 2023 से प्रभावी क‍िया गया है। मंद‍िर कर्मचार‍ियों की बढ़ी हुई सैलरी फरवरी में आने की उम्‍मीद है। सरकार की तरफ से ल‍िए गए इस फैसले से करीब 10,000 स्थायी कर्मियों को फायदा मिलेगा। इससे सरकार पर सालाना सात करोड़ रुपये बोझ पड़ेगा।

Also Read : TMC नेता के घर इनकम टैक्स विभाग के हाथ लगा नोटों का पहाड़, आयकर के छापे में 10 करोड़ से ज्यादा बरामद

सभी मंदिर कर्मियों को पोंगल का बोनस

मंदिरों में जिनकी भी आय सालाना एक लाख रुपये या इससे ज्‍यादा है। मुख्यमंत्री ने सभी मंदिर कर्मियों (पूर्णकालिक, अल्पकालिक या दैनिक भत्ते पर काम करने वाले) के लिए पोंगल का बोनस भी 2000 रुपये से बढ़ाकर 3,000 रुपये करने का आदेश दिया है। इससे सरकारी खजाने पर 1.5 करोड़ रुपये का भार आएगा।

नए साल पर डीए का किया ऐलान

नए साल पर तम‍िलनाडु के मुख्‍यमंत्री ने राज्‍य कर्मचार‍ियों का डीए भी बढ़ाने का ऐलान क‍िया था। यह भी प‍िछले 34 प्रत‍िशत से बढ़ाकर 38 फीसदी कर द‍िया गया है। यह ऐलान सरकार की तरफ से साल के पहले वर्क‍िंग डे को क‍िया गया था। इसके साथ ही पेंशनधारकों को भी 4 प्रत‍िशत अत‍िर‍िक्‍त डीए म‍िलेगा।

केंद्र सरकार की तरफ से भी जल्द कर्मचारियों और पेंशनर्स के डीए में इजाफा क‍िया जाने वाला है। मार्च में होली से पहले सरकार कर्मचारियों के डीए में इजाफा करने का ऐलान कर सकती है। इस बार भी महंगाई भत्‍ते में 4 फीसदी बढ़ोतरी की उम्‍मीद है।