भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) ने एक बड़ा सक्त कदम उठाया है। चेतन शर्मा की आगुवाई वाली राष्ट्रीय चयन समिति को बर्खास्त कर दिया है। यह फैसला इसलिए लिया गय़ा है कि, साल 2022 के टी20 कप के सेमीफाइनल में भारत और इंग्लैंड के बीच मुकाबला हुआ। लेकिन भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा।

बर्खास्त होने वाले चयनकर्ताओं में चेतन शर्मा (उत्तर क्षेत्र) के अलावा हरविंदर सिंह (मध्य क्षेत्र), सुनील जोशी (दक्षिण क्षेत्र) और देबाशीष मोहंती (पूर्वी क्षेत्र) का भी नाम शामिल है।

पांच पदों को भरने के आवेदन

बीसीसीआई ने अब चीफ सेलेक्टर समेत कुल पांच पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। बीसीसीआई ने कहा, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) राष्ट्रीय चयनकर्ताओं (सीनियर पुरुष टीम) के पद के लिए आवेदन आमंत्रित करती है। जो उम्मीदवार उक्त पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें अपने आवेदन पर विचार करने के लिए मानदंडों को पूरा करना होगा।

वही पूर्व क्रिकेटर सेलेक्टर्स पद के लिए आवेदन कर पाएंगे जिन्होंने कम से कम 7 टेस्ट या 30 प्रथम श्रेणी मैच या 10 वनडे और 20 फर्स्ट क्लास मैच खेले हों। साथ ही कम से कम 5 साल पहले क्रिकेट से संन्यास लिया हो. यही नहीं कोई भी पूर्व क्रिकेटर जो कुल 5 वर्षों के लिए किसी भी क्रिकेट समिति का सदस्य रहा है, वह पुरुषों की चयन समिति का सदस्य बनने के लिए पात्र नहीं होगा। आवेदन करने की आखिरी तारीख 28 नवंबर (शाम 5 बजे तक) है।

चेतन शर्मा ने ली यादगार हैट्रिक

24 दिसंबर 2020 को बीसीसीआई की सीनियर पुरुष चयन समिति का ऐलान हुआ था। तब चेतन शर्मा को इसका प्रमुख बनाया गया था. सीनियर राष्ट्रीय चयनकर्ता का कार्यकाल अमूमन चार साल का होता है और उसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है। चेतन शर्मा ने भारत के लिए 23 टेस्ट और 65 वनडे मैच खेले थे। चेतन शर्मा ने टेस्ट में 61, जबकि वनडे इंटरनेशनल में 67 विकेट चटकाए। साल 1987 के वर्ल्ड कप में चेतन शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ यादगार हैट्रिक ली थी।